पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • 2 Youth Sent To Malaysia On Tourist Visa For Job, Were Locked In A Room For 45 Days.

नौकरी के लिए युवकों को टूरिस्ट वीजा पर भेजा मलेशिया, डेढ़ महीने कमरे में बंद रखा

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • दिन में एक बार दिया जाता था खाना, कभी-कभी वह भी नहीं मिलता था
  • पासपोर्ट खराब कर लौटाए, आने के लिए बनाना पड़ा व्हाइट पासपोर्ट

मोहाली. इमीग्रेशन ठगों का मायाजाल पूरे पंजाब में इस कदर फैल चुका है कि इमिग्रेशन ठगों की ओर से जहां लोगों के साथ पैसों की ठगी की जा रही है। वहीं कुछ इमिग्रेशन एजेंट मानव तस्करी तक कर रहे हैं। एेसा ही एक मामला सामने आया है।

 

इसमें मोहाली निवासी दो युवकों को जगरांव के इमिग्रेशन एजेंट सनी बतरा ने ढाई-ढाई लाख रुपए लेकर नौकरी लगवाने की बात बोल कर मलेशिया भेज दिया। वहां जाने के बाद युवकों को डेढ़ महीने तक एक कमरे में बंद रखा।

 

लेकिन जब युवकों की ओर से किसी तरीके से मलेशिया से मोहाली एक एनजीओ के साथ संपर्क किया गया तो एनजीओ के प्रयासों के साथ इमिग्रेशन एजेंट्स ने उन्हें वहां से निकाल दिया। काफी मशक्कत के बाद दोनों पीड़ित युवक अरविंदर सिंह और गुरमीत सिंह भारत लौट आए।

पीड़ित युवकों ने बताया कि इमिग्रेशन एजेंट की ओर से उन्हें पहले यूरोप के अरमेनिया में भेजा गया था। वहां पर उन्हें टीआरसी दिलाई जानी थी। जिस पर वो एक साल तक वहां पर अपनी मर्जी से काम कर पाते।

 

लेकिन वहां पर पहुंचने के लिए उन्हें तीन महीने तक कोई टीआरसी नहीं दिलाई गई और न ही कोई नौकरी लगवाया गया। जिस पर वो वहां से चार महीने बाद वापस आ गए। उन्होंने बताया कि वो 4 अक्टूबर को अरमेनिया गए थे, जबकि 25 फरवरी काे वापस भारत आ गए थे।

 

वापस आने के बाद इमिग्रेशन एजेंट सन्नी बतरा ने कहा कि उसके पास उनके पैसे वापस देने के लिए नहीं है, लेकिन वो उन्हें मलेशिया भेज देगा और वहां पर नौकरी लगवा देगा। इस पर दोनों पीड़ित राजी हो गए और दोनों को दोबारा 30 मार्च को मलेशिया भेजा गया था।

 

दोनों युवकों ने सोशल मीडिया के जरिए मोहाली की पंजाब अगेस्ट करप्शन नाम की एनजीओ चलाने वाले सतनाम सिंह दाऊ के साथ संपर्क किया था। आपबीती सुनाते हुए बोले कि वहां उन्हें कमरे में बंद कर दिया गया और दिन में एक बार खाना दिया जाता था, कभी-कभी तो दिन में खाना आता ही नहीं था।

 

पंजाब अगेंस्ट करप्शन एनजीओ के अध्यक्ष सतनाम सिंह दाऊ ने दाऊ ने बताया कि जब उनसे युवकों ने संपर्क किया तो उन्होंने उनके परिवारों के साथ तालमेल कर डीजीपी पंजाब को इमीग्रेशन एजेंट के खिलाफ शिकायत करवाई जिसके बाद वो इमीग्रेशन एजेंट अपना दफ्तर बंद करके फरार हो गया।

 

उसके बाद से ही मलेशिया में बैठे एजेंट के साथी दोनों युवकों को धमकाते हुए कहने लगे की वो अपनी एक वीडियो बना कर जारी करें जिसमें वो बोले की वो बिलकुल ठीक है ओर सही सलामत है उन्हें नौकरी मिल गई।

 

दाऊ ने कहा कि युवकों को डीजीपी पंजाब के सामने पेश करके एजेंट के खिलाफ शिकायत करवाई गई है। ताकि एजेंट को गिरफ्तार कर युवकों से ठगे हुए पैसे वापिस दिलवाए जा सकें और युवकों की मानव तस्करी करने के मामले में भी उस एजेंट के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जा सके।


युवकों ने बताया कि जब उन्होंने वीडियो बनाने से मना कर दिया और वहां पर बैठे एजेंट्स को यकीन हो गया कि चाहे हम इन्हें मार डालें लेकिन यह वीडियो नहीं बनाएंगे तो उन्होंने वहां से उन्हें निकाल दिया। जिसके बाद वो अपना सामान लेकर वहां से निकल गए और एक गुरुद्वारा साहिब में कुछ दिन के लिए शरण ली।

 

उन्होंने उसके बाद अपने किसी जानकार से संपर्क कर मलेशिया में इंडियन एंबेसी में संपर्क किया जहां पर उनका पासपोर्ट खराब होने तथा मलेशिया में वीजा से ज्यादा आेवर स्टे करने के लिए फाइन भरा और उसके बाद वहां पर उनका वाइट पासपोर्ट बनाया गया। जिसके बाद उन्हें वापस इंडिया डिपोट किया गया।

 

\"DBApp\"

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज आपका कोई सपना साकार होने वाला है। इसलिए अपने कार्य पर पूरी तरह ध्यान केंद्रित रखें। कहीं पूंजी निवेश करना फायदेमंद साबित होगा। विद्यार्थियों को प्रतियोगिता संबंधी परीक्षा में उचित परिणाम ह...

और पढ़ें