पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

45 करोड़ रु. के घपले में पूर्व डिप्टी डायरेक्टर समेत 5 आरोपी अरेस्ट

7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पोस्ट मैट्रिक स्कॉलरशिप स्कैम की जांच जारी। डेमो फोटो
  • पोस्ट मैट्रिक स्कॉलरशिप स्कैम में जांच में जुटी हरियाणा विजिलेंस की टीम
  • अन्य आरोपियों को पकड़ने के लिए जांच जारी

पंचकूला. पोस्ट मैट्रिक स्कॉलरशिप स्कैम में जांच में जुटी हरियाणा विजिलेंस की टीम ने पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तारी के बाद मामले में कई चौंकाने वाले खुलासे हुए हैं। सामने आया है कि इस पूरे प्रकरण में अनुसूचित जाति के बच्चों को कोर्स कराने के लिए पहले तो खुद तलाश किया जाता है। जब स्टूडेंट्स मिल जाए, तो उनका उन कोर्स में एडमिशन करवाते थे, जिसमें स्कॉलरशिप मिलती हो। स्टूडेंट्स के बैंक में अकाउंट खुलवाकर आरोपी खुद ही स्कॉलरशिप के लिए ऑनलाइन अप्लाई करते थे। अब गिरफ्तार किए गए पांचों आरोपियों से पूछताछ की जा रही है।


विजिलेंस ने पानीपत के पूर्व उपनिदेशक राजिंद्र सिंह सांगवान, सोनीपत के जिला कल्याण अधिकारी ऑफिस में लगे क्लर्क सुरेंद्र कुमार, रोहतक निवासी राहुल,यमुनानगर की गुरूदेव कौर और कुमारी रितिक सिंह को गिरफ्तार किया है। विजिलेंस की अभी तक जांच में सामने आया है कि कुल 45 करोड़ 31 लाख 82 हजार 398 रुपए का घोटाला किया गया है।


जोन स्तर के हिसाब से पंचकूला में 89.61 लाख, रोहतक में 23 करोड़ 6 लाख 92 हजार 273, हिसार में 21 करोड़ 35 लाख 28 हजार 753 रुपए का घपला हुआ है। इन्वेस्टिगेशन में सामने आया है कि राहुल, गुरूदेव कौर और कुमारी रितिक सिंह को इस घोटाले के बारे में ज्यादा जानकारी है, क्योंकि नियमों को कैसे ट्रेस पास करना है, ये सारी प्लानिंग राहुल की थी। इसलिए इन तीनों को रिमांड पर लिया गया है। इनसे पूछताछ के लिए विजिलेंस की एक टीम को लगाया है। खुद एसपी मनबीर सिंह पूछताछ कर रहे हैं।
 

ये हुआ खुलासा...
अभी तक की पूछताछ में यमुनानगर की रहने वाली गुरूदेव कौर और कुमारी रितिक सिंह ने बताया है कि ये मामला सामने आने के बाद वे डेराबस्सी में रह रही थी। वे यमुनानगर में एनजीओ चलाती थीं, तो उस दौरान उनके पास गाजियाबाद का मयंक चौधरी नौकरी करता था। उसने बताया था कि रोहतक का राहुल अनुसूचित जाति के स्टूडेंट्स को ऐसे कोर्स करवाता है, जो सरकार की ओर से फ्री कोर्स हैं। राहुल को इस बारे में पूरी जानकारी है। उसने काफी बच्चों को ये कोर्स करवाने का काम शुरू किया हुआ है। कोर्स करवाने के बाद स्कॉलरशिप मिलती है।


इसके बाद राजस्थान की ओपी जेएस यूनिवर्सिटी के मालिक जोगिंद्र दलाल से मीटिंग की। उन्हें बताया गया है कि उनके यहां पर अनुसूचित जाति के स्टूडेंट्स का हम एडमिशन करवाएंगे। उन्हीं कोर्स में स्टूडेंट्स की एडमिशन करवाई, जिस पर स्कॉलरशिप मिलती थी। मयंक, मुकेश, रीटा ने अनुसूचित जाति के स्टूडेंट्स से मीटिंग की और उन्हें कोर्स के लिए मनवाया।

गुरूदेव कौर और कुमारी रितिक सिंह ने बताया कि शुरू-शुरू में ये सब करने में दिक्कत आई। उन्हें पता ही नहीं था कि कैसे स्टूडेंट्स को तैयार करना है। मंयक ने राहुल से कॉन्टैक्ट किया। उसे यमुनानगर में उनके साथ मिलकर काम करने के लिए ऑफर दिया था। इसके बाद बड़ी संख्या में स्टूडेंट्स का दाखिला ओपी जेएस यूनिवर्सिटी में दो कोर्स में करवाया गया।

इन पॉइंट्स पर की जा रही जांच... जिन स्टूडेंट्स के अकाउंट में ये स्कॉलरशिप आती थी, उनके अकाउंट से पैसे कैसे निकाले जाते थे, इसके बारे में पता लगाया जाएगा। स्टूडेंट्स को अकाउंट में आने वाली पेमेंट के बारे में जानकारी भी थी या नहीं। उन्हें स्कॉलरशिप के बारे में क्या बताया जाता था। विजिलेंस की एक टीम कई दिनों से सोनीपत, रोहतक, यमुनानगर में डेरा डाले बैठी है। उसे पंचकूला सेक्टर-23 स्थित विजिलेंस हेडक्वार्टर से मॉनीटर किया जा रहा है।


एसपी विजिलेंस मनबीर सिंह ने बताया कि इस बारे में अलग-अलग टीमों को लगाया गया है। एक टीम राजस्थान भी जा रही है। अभी काफी पूछताछ की जानी है। हम अकाउंट के बारे में टेक्निकल इनपुट भी ले रहे हैं। आरोपियों से अभी पूछताछ की जा रही है। उसके बाद ही बाकी आरोपियों के नामों का खुलासा होगा।

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- धार्मिक संस्थाओं में सेवा संबंधी कार्यों में आपका महत्वपूर्ण योगदान रहेगा। कहीं से मन मुताबिक पेमेंट आने से राहत महसूस होगी। सामाजिक दायरा बढ़ेगा और कई प्रकार की गतिविधियों में आज व्यस्तता बनी...

और पढ़ें