चंडीगढ़ / पत्नी का गला दबाकर मारने वाले पति, सास और जेठ को सात-सात साल की जेल



7 years imprisonment to Husband, Mother-in-law and brother-in-law for murdering 19 year old Kiran.
X
7 years imprisonment to Husband, Mother-in-law and brother-in-law for murdering 19 year old Kiran.

  • दहेज के लिए प्रताड़ित किया जा रहा था किरण को
  • पिछले साल सेक्टर-26 थाना पुलिस ने दर्ज किया था केस

Dainik Bhaskar

Jul 17, 2019, 03:13 PM IST

चंडीगढ़. शादी के महज छह-सात महीने बाद 19 साल की किरण की अचानक मौत हो गई। पुलिस ने ससुराल वालों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया। पुलिस ने जांच की तो पता चला कि लड़की को गला दबाकर मारा गया था। इस केस में करीब एक साल बाद कोर्ट ने अपना फैसला सुनाया और दोषी पति गुलशन, सास संतोष और जेठ बंटी को 7-7 साल की सजा सुनाई है।

 

ये सभी किरण को दहेज के लिए प्रताड़ित कर रहे थे। उसे घर में खूब टॉर्चर किया जाता था। इन तीनों को एडिशनल डिस्ट्रिक्ट एंड सेशंस जज पूनम आर जोशी की कोर्ट ने 10 जुलाई को आईपीसी की धारा 304बी (दहेज हत्या) और 34 के तहत दोषी करार दिया था। इनके अलावा पुलिस ने केस में किरण के ससुर बब्बी को भी आरोपी बनाया था लेकिन कोर्ट को उसके खिलाफ कोई सबूत नहीं मिले और उसे बरी कर दिया गया।

 

पिता को बताया था कि जान से मार देंगे: बता दें कि सेक्टर-26 थाना पुलिस ने किरण के पिता कैलाश चंद की शिकायत पर 2 मई 2018 को ये केस दर्ज किया था। शिकायत में कैलाश चंद ने बताया कि उसकी बेटी ने पड़ोस के रहने वाले गुलशन से उनकी मर्जी के खिलाफ शादी की थी। शादी के समय वे घर से डेढ़ लाख रुपए और कुछ गहने लेकर चली गई थी। शादी के कुछ दिनों बाद ही गुलशन और उसके परिवार ने वह रुपए खर्च कर दिए और गहने भी बेच दिए। इसके बाद उन्होंने किरण को दहेज के लिए प्रताड़ित करना शुरू कर दिया। वे उसकी बेटी के साथ मारपीट करने लगे। कैलाश ने बताया कि उसकी बेटी ने इस बारे में उसे बताया और कहा कि वे एक दिन उसे जान से मार देंगे।

 

सुसाइड नहीं हत्या की थी किरण की: 2 मई 2018 को किरण की मौत हो गई। पुलिस को सूचना मिली कि सेक्टर-16 हॉस्पिटल में एक ब्रॉड डेड केस आया है। वह बॉडी किरण की थी। किरण के गले पर निशान थे। पुलिस ने उसके घर की तलाशी ली तो बाथरूम के शॉवर के पास एक चुन्नी लटकी हुई थी मिली थी। कैलाश चंद ने पुलिस को बताया कि गुलशन और उसके परिवार ने किरण को जान से मार दिया। कोर्ट में भी पुलिस ने यही साबित किया कि किरण ने आत्महत्या नहीं की थी बल्कि उसे मारा गया था। जबकि बचाव पक्ष यही दलील दे रहा था कि किरण ने सुसाइड किया था।

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना