चंडीगढ़ / 5300 का मोबाइल खराब देने पर 13 हजार रुपए का लगा जुर्माना



प्रतीकात्मक फोटो। प्रतीकात्मक फोटो।
X
प्रतीकात्मक फोटो।प्रतीकात्मक फोटो।

  • फैसला कंज्यूमर ने अपनी बहू के लिए नया मोबाइल फोन खरीदा था, पहले दिन से सिम स्लॉट, टच, नेटवर्क में आई खराबी

Dainik Bhaskar

Nov 13, 2019, 05:55 AM IST

पंचकूला. कंज्यूमर ने अपनी बहू के लिए मोबाइल फोन खरीदा और पहले दिन से मोबाइल फोन के सिम स्लॉट, नेटवर्क, टच में खराबी आ गई। यहां तक कि बार-बार मोबाइल हैंग हो रहा था। कंज्यूमर ने दुकानदार व मोबाइल कंपनी को मोबाइल की मैन्यूफैक्चरिंग डिफेक्ट होने की बात कहकर रिप्लेस करने को कहा। लेकिन किसी ने उसकी एक नहीं सुनी। कंज्यूमर ने मामले की शिकायत कंज्यूमर फोरम में दी और फोरम ने 13 हजार रुपए का जुर्माना लगाया।

 

सेक्टर-19 के साथ लगते बलटाना निवासी राम दिया ने अपनी बहू के लिए 17 नवंबर, 2017 को सेक्टर-20 के मां दुर्गा इंटरप्राइजेज से 5300 रुपए की लागत से लाइफ स्मार्टफोन खरीदा। मोबाइल एक साल के वारंटी पीरियड में था। पहले दिन से ही मोबाइल हैंग होने लगा। यहां तक कि मोबाइल के सिम स्लॉट, नेटवर्क व टच में भी खराबी होने लगी। कंज्यूमर अगले दिन दुकानदार के पास गया और उसे मोबाइल की मैन्यूफैक्चरिंग डिफेक्ट होने की बात बता रिप्लेस करने को कहा, लेकिन दुकानदार ने ऐमना कर दिया।

 

उसने कंज्यूमर से कहा कि वह रिलायंस रिटेल लिमिटेड कंपनी का डीलर है और वह कंपनी का मोबाइल बेचता है। मोबाइल की खराबी को ठीक करवाना है तो कंज्यूमर सेक्टर-14 स्थित लाइफ रिलायंस रिटेल लिमिटेड सर्विस सेंटर में जाकर उसकी शिकायत करें। दुकानदार के कहने पर कंज्यूमर सर्विस सेंटर गया और वहां पर उसने मोबाइल रिप्लेस करने को कहा। लेकिन नहीं किया। सर्विस सेंटर में मोबाइल में सॉफ्टवेयर अपडेट कर दिया और हैंडओवर कर दिया। लेकिन खराबी ठीक नहीं हुई। फोरम प्रधान सतपाल, सदस्य डॉ. पवन कुमार सैनी और डॉ. सुषमा गर्ग की बेंच ने फैसला सुनाया।


सर्विस सेंटर ने अपनी दलील में ये कहा
प्रोसिडिंग के मुताबिक रिलायंस रिटेल लिमिटेड कंपनी और लाइफ रिलायंस रिटेल लिमिटेड सर्विस सेंटर की ओर से दी गई दलील में कहा गया कि चूंकि प्रोडक्ट का वारंटी कार्ड मुंबई की ज्यूरिडिक्शन में आता है और ऐसे में इस मामले को डिसमिस किए जाने की मांग की। वहीं फोरम ने सेक्टर-20 के दुर्गा इंटरप्राइजेज के खिलाफ दी शिकायत को खारिज कर दिया। जबकि रिलायंस रिटेल लिमिटेड कंपनी और लाइफ रिलायंस रिटेल लिमिटेड सर्विस सेंटर के खिलाफ सुनवाई आगे चली।

 

ये सुनाया फैसला
कंज्यूमर फोरम के फैसले में कहा गया है कि मोबाइल में बार-बार खराबी साबित करता है कि मोबाइल में मैन्यूफैक्चरिंग डिफेक्ट था। ऐसे में रिलायंस रिटेल लिमिटेड कंपनी मुंबई महाराष्ट्र और सेक्टर-14 स्थित लाइफ रिलायंस रिटेल लिमिटेड सर्विस सेंटर कंज्यूमर के मोबाइल की राशि 5300 रुपए ब्याज सहित वापिस करे। इसके अलावा कंज्यूमर को हुई मानसिक व शारीरिक परेशानी के तहत 10 हजार रुपए और मुकदमे की राशि के तहत 3 हजार रुपए का जुर्माना लगाया गया। जुर्माने की राशि एक महीने में कंज्यूमर को वापिस किए जाने का फैसला सुनाया।
 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना