महंगाई / चंडीगढ़ में प्रतिदिन दो लाख किग्रा प्याज की आपूर्ति होती थी, सप्लाई में कमी ने बढ़ाई कीमतें

प्याज के दाम बढ़ने पर प्रदर्शन कांग्रेस ने किया प्याज के दाम बढ़ने पर प्रदर्शन कांग्रेस ने किया
कांग्रेसियों ने नारेबाजी की कांग्रेसियों ने नारेबाजी की
X
प्याज के दाम बढ़ने पर प्रदर्शन कांग्रेस ने कियाप्याज के दाम बढ़ने पर प्रदर्शन कांग्रेस ने किया
कांग्रेसियों ने नारेबाजी कीकांग्रेसियों ने नारेबाजी की

  • इस समय शहर में प्याज की सप्लाई महाराष्ट्र, अलवर से ही हो रही, इजरायल से भी मंगाया
  • आने वाले दिनों में भी राहत के आसार नहीं, कांग्रेस ने प्रदर्शन कर केंद्र सरकार को घेरा

Dainik Bhaskar

Dec 02, 2019, 11:27 AM IST

चंडीगढ़. बाकी जगहों की तरह ही चंडीगढ़ में भी प्याज का रेट 90 रुपए तक पहुंच गया है। चंडीगढ़ में प्याज की सप्लाई भी सामान्य से काफी कम रह गई है। नतीजा ये है कि रविवार को सेक्टर-26 की सब्जी मंडी में प्याज रिटेल में 80-90 रुपए तक में बिका। प्याज जो थोड़ा खराब है वह 80 रुपए में और अच्छा प्याज 90 और 100 रुपए प्रति किलोग्राम मिल रहा है। लेकिन ये सिर्फ सब्जी मंडी का रेट है, जबकि अपनी मंडी जो अलग-अलग सेक्टरों में लगती है और रेहड़ी फहड़ी वाले या फिर सेक्टरों में बनी दुकानों में तो 100 रुपए में भी प्याज बेचा जा रहा है।

चंडीगढ़ में नाॅर्मल सप्लाई प्याज की 5 से 6 हजार बोरियों की यानि करीब 2.75 लाख प्रति दिन की होती है। इतना प्याज जब सप्लाई आता है तो रेट भी उस समय 20 या 25 रुपए प्रति किलोग्राम तक रेट रहते हैं। लेकिन अब पिछले दस दिनों से चंडीगढ़ में एवरेज प्याज की बोरियां पहुंच रही हैं करीब 1500 से 2000 तक। यानि 75 हजार से करीब 1 लाख किलोग्राम प्याज ही चंडीगढ़ में पहुंच पा रहा है। इसका मतलब ये है कि नाॅर्मल सप्लाई से करीब 1.75 लाख किलो कम प्याज इस समय चंडीगढ़ में सप्लाई हो रहा है। जबकि इसी मंडी से न सिर्फ चंडीगढ़ बल्कि साथ लगते पूरे एरिया में प्याज आगे रिटेल में बिकने के लिए जाता है। शहर में प्याज की सप्लाई पिछले एक से डेढ़ महीने से कम हो रही है, लेकिन रविवार को तो सिर्फ करीब 11 बोरियां ही प्याज की चंडीगढ़ में पहुुंंची, जिसका मतलब ये कि 55 हजार किलो प्याज ही रविवार को चंडीगढ़ की सब्जी मंडी में पहुंचा।

इजरायल से पहुंची सप्लाई

रविवार को सब्जी मंडी में इजरायल से भी करीब 150 बोरी प्याज पहुंचा लेकिन इसका होलसेल रेट भी 65 से 68 रुपए प्रति किलो रहा। यानि लोगों को ये प्याज भी सस्ता नहीं मिल पाएगा। इस समय कुछ सप्लाई महाराष्ट्र से या फिर अलवर से ही हो रही है।
 

कांग्रेसियों का प्रदर्शन- बोले डॉलर से महंगा हुआ प्याज
कांग्रेस के नेताओं ने सेक्टर-26 सब्जी मंडी के बाहर प्रदर्शन किया। कहा कि महंगाई आसमान छू रही है और सरकार को परवाह नहीं है। प्याज डॉलर से भी महंगा हो गया है। चंडीगढ़ कांग्रेस के अध्यक्ष प्रदीप छाबड़ा की प्रमुखता में ये प्रदर्शन किया गया।कांग्रेसियों ने एक दूसरे का स्वागत प्याज से बनाई गई मालाओं से किया और एक दूसरे को गिफ्ट के तौर पर भी प्याज ही दिया।

जब 60 रुपए किलो था रेट तो लगे प्रशासन के स्टाॅल, अब गायब

प्रशासक वीपी सिंह बदनोर ने जब चंडीगढ़ में प्याज का रेट 60 रुपए किलोग्राम तक पहुंचा तो उस समय स्टाॅल लगाकर प्याज बेचने के लिए निर्देश दिए थे। उस समय होलसेल रेट पर ही अलग अलग पांच जगहों पर स्टाॅल लगाकर प्याज भी बेचा गया। लेकिन अब जब प्याज के रेट 80 रुपए प्रति किलोग्राम से ज्यादा है तो ये स्टाॅल गायब हैं। सूत्रों की मानें तो अब होलसेल रेट ही इतना ज्यादा है कि इन स्टाॅल में भी सस्ता प्याज प्रशासन नहीं बेच पाएगा जिसके चलते अब अफसर भी इस बारे में कुछ नहीं कर रहे।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना