कोरोनावायरस / शहर में पॉजिटिव केस आने पर लोगाें में दहशत; संक्रमित लड़की के घर के बाहर मेडिकल टीम और पुलिस का पहरा

सेक्टर-21 में पीड़ित लड़की के बाहर मौजूद मेडिकल टीम और पुलिस सेक्टर-21 में पीड़ित लड़की के बाहर मौजूद मेडिकल टीम और पुलिस
X
सेक्टर-21 में पीड़ित लड़की के बाहर मौजूद मेडिकल टीम और पुलिससेक्टर-21 में पीड़ित लड़की के बाहर मौजूद मेडिकल टीम और पुलिस

  • लाेग एक दूसरे से बात करने से रहे हैं कतरा, सेक्टर 21 के इलाके को पूरी तरह बंद करने की मांग
  • लोगों में इस बात की नाराजगी भी है कि संक्रमित लड़की के एयरपोर्ट पर टेस्ट में लापरवाही क्यों हुई

दैनिक भास्कर

Mar 19, 2020, 01:55 PM IST

चंडीगढ़. शहर में पहला काेराेना का पाॅजिटिव केस आते ही जहां शहर में खाैफ पैदा हाे गया है, वहीं सेक्टर-21 के लाेग इतना डर गए हैं कि घर से बाहर नहीं निकल रहे। संक्रमित लड़की के घर के बाद मेडिकल टीम और पुलिस का पहरा है। यहां तक कि लाेग एक दूसरे से बात करने से भी कतरा रहे हैं। ऐसे में सेक्टर-21 का हर आम व्यक्ति फाेन पर यही चर्चा कर रहा है।

सेक्टर के लाेगाें का कहना है कि बाहर से आने के बाद घर वालाें काे टेस्ट करवाना चाहिए था, घर वालाें ने पढ़े लिखे हाेकर इसकाे छुपाए रखा, ये बहुत गलत बात है। लाेगाें का कहना है कि प्रशासन काे चाहिए कि सेक्टर-21 काे पूरी तरह से बंद कर दिया जाए। सेक्टर-21 मार्केट के गुरिंद्र सिंह का कहना है कि जब से सुबह न्यूज पेपर में पाॅजिटिव केस के बारे में पढ़ा, तब से इसी बात की चर्चा हाे रही है कि एयरपाेर्ट पर ऐसी लापरवाही कैसे हुई, दूसरी ओर घर पर आते ही क्याें टेस्ट नहीं करवाया।

संजीव का कहना है कि सुबह से फाेन आ रहे हैं, इस केस के बारे में लाेग पूछ रहे हैं, पाॅजीटिव केस शहर में सुनते ही लाेगाें में अब ज्यादा खाैफ हाे गया है। रमन जसवाल का कहना है कि क्या उसके परिवार में काेई भी एजुकेटेड नहीं था, इंगलैंड से चंडीगढ़ पंहुचने में कहीं पर भी चेकिंग क्याें नहीं हुई। जब पूरे देश-विदेश में काेराेना का प्रकाेप चल रहा है ताे ऐसे में इतनी लापरवाही क्यों हुई। घरवालाें काे भी चाहिए था कि विदेश से आने वाले मेंबर काे चेक कराया जाए। टाइम पर चेकिंग हाेती ताे ट्रीटमेंट जल्दी शुरू हाे सकता था।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना