सिटी प्राइड / आर्यन ने चंडीगढ़ के लिए जीता सबसे बड़ा इंटरनेशनल मेडल,एक साल पहले ही बॉक्सिंग करनी शुरू की

Aryan won the medal in boxing for Chandigarh
X
Aryan won the medal in boxing for Chandigarh

  • सब-जूनियर इंटरनेशनल बॉक्सिंग में जीता सिल्वर मेडल, रोहतक नेशनल में जीता था गोल्ड
  • आर्यन बचपन में शरारती था, उसकी शरारतें रोकने के लिए बॉक्सिंग के लिए भेजा

दैनिक भास्कर

Aug 09, 2019, 10:14 AM IST

चंडीगढ़. ब्रिटिश स्कूल के बॉक्सर ने चंडीगढ़ के लिए अभी तक का सबसे बड़ा मेडल हासिल किया है। सिटी स्टार 13 साल के आर्यन ने नेशनल में गोल्ड मेडल जीतने के बाद सब-जूनियर एशियन इंटरनेशनल बॉक्सिंग चैंपियनशिप में सिल्वर मेडल मिला।

 

फाइनल में आर्यन गोल्ड मेडल के काफी करीब थे लेकिन कजाकिस्तान के बॉक्सर को अंत में होजियाकबर महामुदोव ने करीबी मुकाबले में 3-2 से हराया। आर्यन फाइनल में अटैकिंग मोड पर थे लेकिन अंतिम समय में उन्हें हार का सामना करना पड़ा। आर्यन के लिए ये मेडल इसलिए खास है क्योंकि उन्होंने एक साल पहले ही चंडीगढ़ आकर बॉक्सिंग करनी शुरू की थी। उनके कोच विकास दहिया और चंडीगढ़ बॉक्सिंग के लिए ये एक बड़ी कामयाबी है। इससे पहले जूनियर एशियन बॉक्सिंग में चंडीगढ़ के लिए अमन ने ब्रॉन्ज मेडल जीता था।

 

शरारतों से दूर रखने के लिए शुरू की गेम
आर्यन बचपन से ही काफी शरारती रहे हैं और उनके परिवार ने इसी से उन्हें दूर रखने के लिए बाॅक्सिंग शुरू कराई थी। उनके पिता तिलक राज बीएसएफ में हेड कॉन्स्टेबल हैँ और उनकी मां आशा घर संभालती हैं। उनके लिए बेटे को दूर भेजना मुश्किल जरूर था लेकिन आर्यन की सफलता ने उन्हें इसका रिजल्ट दे दिया है।

 

कोच विकास कहते हैं वे ऑफ द रिंग भले ही शरारतें करते हैं लेकिन जब उसे बॉक्सिंग करनी होती है तो वो किसी तरफ नहीं देखता। उसका पूरा फोकस गेम पर ही होता है।

 

परिवार से रहे दूर
आर्यन ने चार साल पहले सोनीपत स्थित अपने घर को बॉक्सिंग के लिए छोड़ दिया था। उन्हें गोहाना की जय बालाजी स्पोर्ट्स एकेडमी में कोच नवीन हुड्डा ने तैयार किया और इसके बाद उनके करंट कोच विकास दहिया ने उन्हें ट्रेनिंग देनी शुरू की। आर्यन माइक टायसन और इंडियन स्टार विजेंदर सिंह को अपना रोल मॉडल मानते हैं।

 

हर किसी के मूव पर नजर रखते हैं
आर्यन के कोच विकास दहिया ब्रिटिश स्कूल में ट्रेनिंग देते हैं और वे आर्यन की इस कामयाबी से काफी खुश हैं। उन्होंने कहा कि आर्यन जब मेरे पास ट्रेनिंग के लिए आया तो वो सबसे अलग था। वो अपनी ट्रेनिंग के साथ साथ सभी बॉक्सर्स के मूवमेंट और पंच पर नजर रखता है और ये एक अच्छे बॉक्सर की निशानी है।

 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना