• Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • ASI Daljinder had won a loan of 20 lakhs, far from Mount Everest, medal, congratulations or financial help, the department did not even accept the holidays.

विडंबना / एएसआई दलजिंदर ने कर्ज लेकर फतह किया था एवरेस्ट, मेडल तो दूर महकमे ने छुट्‌टी तक मंजूर नहीं की

पंजाब पुलिस के एएसआई दलविंदर सिंह कर्ज लेकर एवरेस्ट पर चढ़े थे। पंजाब पुलिस के एएसआई दलविंदर सिंह कर्ज लेकर एवरेस्ट पर चढ़े थे।
दलविंदर को सरकार ने कोेई सहायता नहीं की। दलविंदर को सरकार ने कोेई सहायता नहीं की।
X
पंजाब पुलिस के एएसआई दलविंदर सिंह कर्ज लेकर एवरेस्ट पर चढ़े थे।पंजाब पुलिस के एएसआई दलविंदर सिंह कर्ज लेकर एवरेस्ट पर चढ़े थे।
दलविंदर को सरकार ने कोेई सहायता नहीं की।दलविंदर को सरकार ने कोेई सहायता नहीं की।

  • जौलाकलां के दलजिंदर सिंह एक बार फिर पुलिस महकमे और पंजाब सरकार की बेरुखी का शिकार
  • कसूर केवल इतना है कि उनके पास न सियासी पहुंच है और न वे सनावर स्कूल से पासआउट हैं

दैनिक भास्कर

Jan 11, 2020, 11:13 AM IST

डेराबस्सी (मनोज राजपूत). डेराबस्सी के गांव जौलाकलां से एवरेस्ट विजेता एएसआई दलजिंदर सिंह एक बार फिर पुलिस महकमे सहित पंजाब सरकार की बेरुखी का शिकार हुए हैं। कसूर केवल इतना है कि उनके पास न सियासी पहुंच है और न वे सनावर स्कूल से पासआउट हैं।

हाल ही में पंजाब सरकार ने एवरेस्ट फतह करने वालों को सीधे डीएसपी भर्ती कर लिया, जबकि कर्जा लेकर एवरेस्ट चढ़ने वाले एएसआई दलजिंदर आज तक आर्थिक मदद और मेडल के मोहताज हैं। दलजिंदर की महकमे ने छुटि्टयां तक मंजूर नहीं की।

सरकारी स्कूल के बाद सरकारी कॉलेज डेराबस्सी से पासआउट 45 साल के दलजिंदर समुद्र के नीचे पंजाब पुलिस का झंडा फहराने वाले पहले पुलिस मुलाजिम थे। लेकिन एवरेस्ट फतेह करने के बाद न तो वे अपना 20 लाख का कर्ज चुका कर पाए और न ही सरकार ने उनकी मेहनत को तवज्जो दी। दूसरी तरफ पंजाब सरकार अब तक 3 ऐसे नौजवानों को सीधे तौर पर डीएसपी भर्ती कर चुकी है, जो माउंट एवरेस्ट पर चढ़े थे।

इनमें से दो तो बीते दिन ही सीधे डीएसपी बनाए गए हैं। इन तीनों में दो डीएसपी सनावर स्कूल में पढ़े हुए हैं। डीएसपी भर्ती करने में पंजाब सरकार की कसौटी सवालों के घेरे में है।

दलजिंदर की अचीवमेंट

  • देश ही नहीं विदेशों में भी पंजाब का नाम ऊंचा किया.
  • 3 अप्रैल 2017 को चंडीगढ़ में पंजाब के डीजीपी सुरेश अरोड़ा ने 29035 फीट ऊंची माउंट एवरेस्ट फतेह करने के लिए फ्लैग ऑफ किया था दलजिंदर को

20,644 फीट ऊंची चोटी चढ़े लाहौल-स्पीति में

  • 20086 फीट ऊंची स्टोक कांगड़ी पीक फतह कर चुके हैं लद्दाख में
  • 2019 में अरब सागर में 16.4 फीट की गहराई में जाकर 50 मीटर तक समुद्र में साइकिल चलाई थी।

दो वर्ल्ड रिकॉर्ड भी...

  • 1. क्लाइमेंट चेंज अवेयरनेस प्रोग्राम के तहत पानी में 30 फीट की गहराई में 110 मीटर साइक्लिंग की।
  • 2. समुद्र में 30 फीट की गहराई में जाकर टीम ने 1-1 केला खाने का बनाया।

पूरी दुनिया में नाम चमकाया
लिम्का बुक में एक बार, यूनीक वर्ल्ड बुक, इंडिया बुक और एशिया बुक में तीन-तीन बार नाम दर्ज है।

तीन में से दो कैंडिडेट सनावार स्कूल से पासआउट
सीधे डीएसपी भर्ती हुए पृथ्वी सिंह की फिल्लौर से ट्रेनिंग पूरी हो चुकी है जो पंजाब कांग्रेस के यूथ एवं स्पोर्ट्स क्लब सेल के चेयरमैन संजय इंदर सिंह चाहल उर्फ बंटी चाहल के बेटे हैं और कैप्टन परिवार के गरीबी हैं। पंजाब कैबिनेट द्वारा सीधी भर्ती किए फतेह सिंह बराड़ मुक्तसर जिले के गांव भागसर निवासी हैं, जिनके पिता सुखविंदर सिंह बराड़ पीसीएस अधिकारी हैं। दोनों सनावर स्कूल से पासआउट हैं। वहीं, दलजिंदर 1994 में पंजाब पुलिस में बतौर सिपाही भर्ती हुए। 2001 में हवलदार बने और 2014 में एसआई बनने के बाद उन्होंने अनेक कीर्तिमान अपने नाम किए।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना