चंडीगढ़ / शहर में बदलाव की बात करते ही कार्बूजिए का भूत डराता है : बदनौर



प्रशासक ने परेड ग्रांउड में आर्किबिल्ड का किया उद्घाटन प्रशासक ने परेड ग्रांउड में आर्किबिल्ड का किया उद्घाटन
X
प्रशासक ने परेड ग्रांउड में आर्किबिल्ड का किया उद्घाटनप्रशासक ने परेड ग्रांउड में आर्किबिल्ड का किया उद्घाटन

  • चंडीगढ़ के प्रशासक ने परेड ग्रांउड में आर्किबिल्ड का किया उद्घाटन
  • पार्किंग व ट्रैफिक की समस्या को ध्यान में रखकर ही बनाएं बिल्डिंग

Dainik Bhaskar

Sep 15, 2019, 10:39 AM IST

चंडीगढ़. पंजाब के गवर्नर एवं चंडीगढ़ के प्रशासक वीपी सिंह बदनौर ने कहा है कि स्थापना के कई दशकों बाद भी चंडीगढ़ की पहचान सिटी ब्यूटीफुल के रूप में होती है इसका श्रेय फ्रेंच आर्किटेक्ट ली कार्बूजिए को जाता है। जब भी हम चंडीगढ़ में कोई बदलाव करने की सोचते हैं तो ली कार्बूजिए का भूत हमें डराने लगता है, इसलिए चंडीगढ़ की हेरिटेज में छेड़छाड़ किए बगैर ही इसकी सुंदरता को बरकरार रखने की दिशा में प्रशासन द्वारा प्रयास किए जा रहे हैं।

 

बदनौर शनिवार को सेक्टर-17 स्थित परेड ग्राउंड में पीएचडी चैंबर ऑफ कामर्स एंड इंडस्ट्री द्वारा इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ आर्किटेक्ट्स व इंडियन प्लंबरिंग एसोसिएशन के सहयोग से आयोजित सातवें तीन दिवसीय आर्किबिल्ड का उद्घाटन करने के बाद इंडस्ट्रियालिस्ट, आर्किटेक्चरल सेक्टर से जुड़े प्रतिनिधियों को संबोधित कर रहे थे।

 

उन्होंने कहा कि वर्षों पहले डिजाइन किया गया चंडीगढ़ आज भी आर्किटेक्चरल क्षेत्र से जुड़े लोगों के लिए शोध का केंद्र है। यही कारण है कि देश के कई हिस्सों में नए शहरों की स्थापना के लिए चंडीगढ़ को ही कॉपी किया जाता है। उन्होंने कहा कि इस समय चंडीगढ़ की सबसे बड़ी समस्या पार्किंग व लगातार बढ़ रही ट्रैफिक की है। इसके मद्देनजर भविष्य में इमारत निर्माण किया जा रहा है।

 

समारोह की अध्यक्षता करते हुए चंडीगढ़ भाजपा अध्यक्ष संजय टंडन ने कहा कि चंडीगढ़ में आर्किटैक्ट को चाहिए कि वह बिल्डिंग के नक्शे इस तरह से डिजाइन करें जिससे वाटर कंजर्वेशन को बढ़ावा मिल सके।

 

नेताओं के नाम पर सड़क का नाम रखने के प्रस्ताव आते रहते हैं...
चंडीगढ़ के प्रशासक वीपी सिंह बदनौर ने अपने भाषण के दौरान कहा कि देश के अन्य शहरों की तर्ज पर चंडीगढ़ में भी सड़कों के नाम नेताओं के नाम पर रखने तथा कई सार्वजनिक स्थानों पर चंडीगढ़ से जुड़े नेताओं की प्रतिमाएं लगाने के प्रस्ताव आते रहते हैं।लेकिन चंडीगढ़ शायद देश का पहला ऐसा राज्य है जहां किसी भी नेता के नाम पर सड़क का नाम नहीं है और किसी भी नेता की प्रतिमा नहीं है। यह ली कार्बूजिए का खौफ ही है जो हमने आजतक इस तरह के किसी भी प्रस्ताव पर मोहर नहीं लगाई।

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना