लापरवाही / श्मशानघाट से अस्थियां लापता, बिना फूल के बेटा हरिद्वार गया पूजा करने



Bones missing from crematorium
X
Bones missing from crematorium

  • श्मशानघाट के कर्मचारियों की लापरवाही पहले भी कई बार सामने आई है
  • अस्थियां न मिलने पर कर्मचारियों की लापरवाही पर दर्ज करवाई पुलिस में शिकायत

Dainik Bhaskar

Aug 29, 2019, 10:52 AM IST

चंडीगढ़. कैंबवाला के रहने वाले रवि वर्मा की मां की पिछले दिनों मौत हो गई थी। उनका सेक्टर-25 के श्मशान घाट में अंतिम संस्कार किया गया था। रवि वर्मा ने अपनी मां की अस्थियाें को लेकर हरिद्वार जाना था। लेकिन जब वे सेक्टर-25  के श्मशानघाट में पहुंचे तो उनकी मां के फूल(अस्थियां) लॉकर में नहीं थे। इसके बाद रवि ने इस बात की पुलिस में शिकायत दी है। पुलिस ने अज्ञात पर केस दर्ज कर लिया है।

 

रवि ने बताया कि 20 अगस्त को उनकी मां की पीजीआई में इलाज के दौरान मौत हो गई थी। 21 को मां का सेक्टर 25 में अंतिम संस्कार किया। 28 अगस्त को उन्होंने हरिद्वार में मां की अस्थियां विसर्जित करने के लिए जाना था।

 

बुधवार सुबह जब वे अपने परिवार वालों के साथ श्मशान घाट पहुंचे तो उन्होंने अपना लॉकर खुलवाया। जब अंदर देखा तो पाया कि अस्थियां वहां पर नहीं थी। रवि के मुताबिक श्मशानघाट के कर्मी उनके पास आए और उन्हें अलग अस्थियां देने लगे तो उन्होंने लेने से मना कर दिया। रवि वर्मा ने जिस थैले में मां की अस्थियां रखी थीं, वह उसकी निशानी रखकर गए थे।

 

रवि अपने परिवार समेत अपनी मां के फूलों के बगैर ही हरिद्वार के लिए रवाना हो गए थे। उनके मुताबिक श्मशानघाट वालों ने दो लोगों से बात की है, जिन्होंने बताया कि वे अपनी अस्थियों को विसर्जित कर चुके हैं। रवि वर्मा रात तक हरिद्वार में थे। उनका कहना है कि उनके लिए जीवन भर का मलाल रहेगा कि किसी की लापरवाही के कारण वे अपनी मां की विधिवत पूजा नहीं कर सके।

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना