चंडीगढ़ / कर्मचारियों से पूछेगा चंडीगढ़ प्रशासन; सर्विस रूल्स केंद्र सरकार के हिसाब से चाहिए या पंजाब सरकार के

सिंबोलिक इमेज सिंबोलिक इमेज
X
सिंबोलिक इमेजसिंबोलिक इमेज

  • पंजाब की तरफ से हाल ही में रिटायरमेंट की उम्र को कम करके 60 साल से 58 साल कर दिया गया है
  • प्रशासक वीपी सिंह ने अधिकारियों को निर्देश दिया कि वे इंप्लाइज और डिपार्टमेंट वाइज फीडबैक लें

दैनिक भास्कर

Mar 07, 2020, 03:03 PM IST

चंडीगढ़. पंजाब सर्विस रूल्स और सेंट्रल सर्विस रूल्स को लेकर चंडीगढ़ प्रशासन ने कर्मचारियों से जवाब मांगा है। यूटी सेक्रेटरिएट में प्रशासक वीपी सिंह बदनोर ने शुक्रवार को रिव्यू मीटिंग की। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिया कि वे पहले इंप्लाइज और डिपार्टमेंट वाइज फीडबैक लें। इससे पहले चंडीगढ़ के प्रशासक की तरफ से अधिकारियों को निर्देश दिए गए थे कि सेंट्रल सर्विस रूल्स लागू किए जाने को लेकर काम करें। 

पंजाब की तरफ से हाल ही में रिटायरमेंट की उम्र को कम करके 60 साल से 58 साल कर दिया गया है। इसके चलते चडीगढ़ में एक्सटेंशन में चल रहे और 58 साल की उम्र पूरी करने वाले कई कर्मचारी इस साल रिटायर हो जाएंगे। इस समय पंजाब सिविल सर्विस रूल्स चंडीगढ़ में लागू हैं। अगर सेंट्रल सर्विस रूल्स को इंप्लीमेंट किया जाता है तो इनकी रिटायरमेंट एज बढ़ जाएगी।

कई कर्मचारी यूनियन हैं खिलाफ

कई कर्मचारी यूनियन्स इसके खिलाफ हैं। चंडीगढ़ यूटी सबओर्डिनेट सर्विसेज फेडरेशन की तरफ से कहा गया है कि ये रूल्स अगर लागू होते हैं तो उन्हें इसका फायदा नहीं होगा। इससे सरकारी जाॅब में एंट्री की उम्र कम हो जाएगी। दूसरी ओर कोऑर्डिनेशन कमेटी ऑफ गवर्नमेंट एंड एमसी इम्प्लाॅइज एंड वर्कर्स चंडीगढ़ के कंवीनर अश्वनी ने कहा कि वे इस फैसले के पक्ष में हैं।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना