चंडीगढ़ / एक कार, एक घंटा, तीन पॉल्यूशन सर्टिफिकेट,आंकड़े अलग-अलग,पॉल्यूशन चेकिंग के नाम पर धोखाधड़ी



पॉल्यूशन चेकिंग के नाम पर धोखा। पॉल्यूशन चेकिंग के नाम पर धोखा।
पॉल्यूशन चेकिंग के नाम पर धोखा। पॉल्यूशन चेकिंग के नाम पर धोखा।
पॉल्यूशन चेकिंग के नाम पर धोखा। पॉल्यूशन चेकिंग के नाम पर धोखा।
X
पॉल्यूशन चेकिंग के नाम पर धोखा।पॉल्यूशन चेकिंग के नाम पर धोखा।
पॉल्यूशन चेकिंग के नाम पर धोखा।पॉल्यूशन चेकिंग के नाम पर धोखा।
पॉल्यूशन चेकिंग के नाम पर धोखा।पॉल्यूशन चेकिंग के नाम पर धोखा।

  • इस घपले को लेकर पॉल्यूशन चेकिंग करवाने वाले ने शिकायत की
  • ट्रांसपोर्ट विभाग ने जांच करवाने का आश्वासन दिया

Dainik Bhaskar

Oct 10, 2019, 10:38 AM IST

चंडीगढ़. शहर में पॉल्यूशन चेकिंग के नाम पर कैसे लोगों से धोखाधड़ी हो रही है इसकी शिकायत स्टेट ट्रांसपोर्ट अथॉरिटी (एसटीए) से की गई है। एक ही घंटे के अंदर एक ही कार के तीन अलग अलग जगह पर पॉल्यूशन चेक हुए। लेकिन इन तीनों का रिजल्ट अलग-अलग आया है। बड़ा सवाल यह है कि एक ही गाड़ी की पॉल्यूशन चेक की फिगर्स अलग अलग कैसे हो सकती हैं। बुधवार हुई इस शिकायत में एसटीए से कहा गया है कि वह इन पर कार्रवाई करें।

 

तीनों जगह से पॉल्यूशन सर्टिफिकेट लिया...
सेक्टर-38 निवासी इलेक्ट्रॉनिक इंजीनियर अंकित ने अपनी शिकायत में लिखा कि वह अपनी कार स्विफ्ट के पॉल्यूशन चेकिंग के लिए सेक्टर 41 स्थित पेट्रोल पंप के पॉल्यूशन चेकिंग सेंटर में गए। यहां पर उन्होंने पाया कि बिना प्रॉपर चेकिंग के ही सर्टिफिकेट दिए जा रहे हैं। इसके बाद अंकित ने फैसला किया कि वह अन्य पॉल्यूशन चेकिंग सेंटर्स को भी चेक करेंगे।

 

इस पर वह 25 सितंबर को शाम 4:09 बजे सेक्टर 41 के पॉल्यूशन चेकिंग सेंटर में गए। 4:43 पर सेक्टर-34 के पॉल्यूशन चेकिंग में गए और 4:59 पर सेक्टर 37 के पॉल्यूशन चेकिंग सेंटर में गए। तीनों जगह पर अपनी स्विफ्ट कार लेकर गए और पॉल्यूशन सर्टिफिकेट लिया। हैरानी की बात यह है कि तीनों के आंकड़े अलग अलग रहे हैं।

 

आरपीएम और आईडल आरपीएम में भी अंतर...
टेम्परेचर की फिगर्स रही जीरो.
..सेक्टर 34 स्थित एलाइड सर्विस स्टेशन में स्विफ्ट कार का पॉल्यूशन चेक हुआ। इसमें ऑयल टेम्प्रेचर कॉलम की फिगर्स शुन्य दिखाई गई हैं। कुल चार कॉलम हैं और इन चारों में यह आंकड़ा शुन्य का है। वहीं, सेक्टर 37 में ऑयल टेम्प्रेचर कॉलम की फिगर्स 61.0 दिखाई गई और चारों कॉलम में बिल्कुल यही फिगर्स हैं। वहीं, सेक्टर 41 के पॉल्यूशन चेकिंग सेंटर में इसी कॉलम में फिगर्स अलग अलग हैं जो कि 64, 66 और 69 हैं।

 

अब बात करें सर्टिफिकेट में दिए गए के-वैल्यू कॉलम की तो सेक्टर 34 में 1.39 दिखाया जा रहा है जबकि सेक्टर 37 में 0.03 व 0.02 दिखाई गई है वहीं, सेक्टर 41 में 001.3 दिखाई गई है। इसके अलावा आरपीएम और आईडल आरपीएम में भी काफी विभिन्नताएं हैं।

 

इस मामले पर ट्रांसपोर्ट विभाग के सेक्रेटरी उमाशंकर ने कहा कि एक ही घंटे के अंदर पॉल्यूशन के फिगर्स में इतने बदलाव नहीं आ सकते। अगर सर्टिफिकेट गलत दिए जा रहे हैं तो इसकी चेकिंग करवाएंगे। 


 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना