मिलीभगत / एसडीएम ने पोकलेन और टिप्पर के साथ पकड़वाए थे दो लोग, पुलिस ने छोड़ दिए

Collapsed with police of mining mafia
X
Collapsed with police of mining mafia

  • अवैध माइनिंग का मामला सोशल मीडिया पर आई शिकायत पर की थी कार्रवाई
  • माइनिंग माफिया से पुलिस की सांठगांठ के मामले आते रहे है

Jun 24, 2019, 10:52 AM IST

लालड़ू. रेत-ग्रेवल हो या मिट्टी, माइनिंग माफिया से सांठगांठ बारे में पुलिस की भूमिका एक बार फिर पूरी तरह शक के दायरे में है। पांच दिन पहले एसडीएम डेराबस्सी ने माइनिंग अफसरों के साथ बडाना में अवैध माइनिंग के आरोप में जो टिप्पर व पोकलेन समेत दो लोग पकड़वाए थे, पुलिस ने उन्हें अगले ही दिन बिना कार्रवाई के जाने दिया। इतना ही नहीं, आरोपियों को क्लीन चिट देने में पुलिस के दावों की पोल भी खुल गई।

 

पुलिस के मुताबिक मिट्टी की माइनिंग बारे में जमीन मालिक ने परमिशन बाद में ले ली थी जबकि माइनिंग डिपार्टमेंट का कहना है कि उनके यहां से किसी को फ्रेश परमिशन अभी तक जारी नहीं की गई है।

 

मामला हंडेसरा पुलिस थाने के तहत गांव बडाना से जुड़ा है। यहां अवैध रूप से माइनिंग करने के आरोप में पुलिस ने मौके से एक पोकलेन मशीन और एक टिप्पर जब्त किया है। यह कार्रवाई एसडीएम डेराबस्सी को सोशल मीडिया समेत उनके ईमेल पर की गई एक शिकायत के आधार पर की गई थी। एसडीएम के गनमैन, स्टेनो समेत माइनिंग अफसर, एसएचओ महमा सिंह ने 19 जून की शाम बड़ाना में रेड की थी। वहां सरेआम माइनिंग के बाद मौके से मशीन व टिप्पर जब्त करने के अलावा पुलिस ने दो लोगों को भी हिरासत में लिया था परंतु उनके खिलाफ माइनिंग अफसर की शिकायत के बावजूद कोई कार्रवाई नहीं की गई। 

 

 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना