चंडीगढ़ / शिकायतकर्ता ने कोर्ट में दी गवाही, कहा-पुलिस ने मेरे पेरेंट्स को अरेस्ट न करने के लिए मांगे थे 5 करोड़ रुपए

डिस्ट्रिक्ट कोर्ट कॉम्पलेक्स चंडीगढ़ डिस्ट्रिक्ट कोर्ट कॉम्पलेक्स चंडीगढ़
X
डिस्ट्रिक्ट कोर्ट कॉम्पलेक्स चंडीगढ़डिस्ट्रिक्ट कोर्ट कॉम्पलेक्स चंडीगढ़

  • रिश्वत मामले में शिकायतकर्ता गुनीत कौर की हुई गवाही, बताया कैसे 5 करोड़ से 40 लाख में तय हुआ था सौदा

दैनिक भास्कर

Jan 04, 2020, 05:28 PM IST

चंडीगढ़. चंडीगढ़ पुलिस में साढ़े 4 साल पहले रिश्वत का एक बड़ा मामला सामने आया था। 40 लाख रुपए की रिश्वत में सीबीआई ने दो बिजनेसमैन समेत चंडीगढ़ पुलिस के डीएसपी आरसी मीणा को भी गिरफ्तार किया था।

अब कोर्ट में खुलासा हुआ है कि पुलिस ने 40 लाख रुपए नहीं बल्कि रिश्वत के तौर पर 5 करोड़ रुपए मांगे थे। शिकायतकर्ता गुनीत कौर की  सीबीआई की स्पेशल कोर्ट में गवाही हुई। इस दौरान गुनीत कौर ने बताया कि पुलिस ने उनसे 5 करोड़ रुपए की रिश्वत मांगी थी।

उनकी गवाही से सीबीआई का केस मजबूत हो गया है। आरोपी संजय दहुजा ने उन्हें बताया था कि पुलिस ने उनके पेरेंट्स और भाई को गिरफ्तार न करने के लिए 5 करोड़ रुपए मांगे हैं। उन्होंने इतनी बड़ी रकम देने से इनकार कर दिया।

इसके बाद 11 अगस्त 2015 को आरोपी अमन ग्रोवर ने उनसे कांटेक्ट किया और कहा कि संजय दहुजा की डीएसपी मीणा से बात हो गई है और वे एक करोड़ रुपए में मान गए हैं। यानी रिश्वत की रकम 5 करोड़ से 1 करोड़ पर आ गई। उन्होंने तब भी इतनी बड़ी रकम देने से इनकार कर दिया।


इसके अगले दिन गुनीत कौर से अमन ग्रोवर ने कांटेक्ट किया और कहा कि पुलिस 75 लाख रुपए में मान गई है। इतने में गुनीत ने पुलिस के इस रिश्वत के खेल के बारे में सीबीआई को सूचना दे दी। आखिर में बात 40 लाख रुपए में तय हो गई। लेकिन इस बीच गुनीत की शिकायत पर सीबीआई ने आरोपियों को पकड़ने के लिए ट्रैप लगाया।

ये है मामला: अगस्त 2015 को सीबीआई ने रिश्वत के एक मामले में चंडीगढ़ पुलिस के डीएसपी आरसी मीणा समेत बर्कले हुंडई के मालिक संजय दहुजा और सेक्टर-43 स्थित केएलजी होटल के मालिक अमन ग्रोवर को गिरफ्तार किया था। आरोप के मुताबिक चंडीगढ़ पुलिस की इकोनॉमिक ऑफेंसेज विंग (ईओडब्ल्यू) ने 24 दिसंबर 2014 को सेक्टर-9 की दीपा दुग्गल की शिकायत पर चावला पेट्रोल पंप के मालिक गुरकृपाल सिंह चावला, उनकी पत्नी व बेटे के खिलाफ 6.25 करोड़ की ठगी का केस दर्ज किया था। आरोप के मुताबिक चावला परिवार को इस केस में गिरफ्तार न किए जाने के एवज में पुलिस ने 40 लाख रुपए की रिश्वत की मांग की थी। चावला परिवार की ओर से सीबीआई को शिकायत दी गई। सीबीआई ने ट्रैप लगाकर डीएसपी मीणा समेत अन्य आरोपियों को गिरफ्तार किया था।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना