हरियाणा / पत्र में दिखी चिंता- विपक्ष 250 रु.बढ़ोतरी को बता सकता है बुजुर्गों का अपमान, छात्रों में 4 गुना नशा बढ़ने का लगा सकता है आरोप

कॉमन मिनिमम प्रोग्राम कमेटी में भी नहीं बन पाई पेंशन पर सहमति, पेंडिंग है यह मुद्दा (फाइल फोटो)। कॉमन मिनिमम प्रोग्राम कमेटी में भी नहीं बन पाई पेंशन पर सहमति, पेंडिंग है यह मुद्दा (फाइल फोटो)।
X
कॉमन मिनिमम प्रोग्राम कमेटी में भी नहीं बन पाई पेंशन पर सहमति, पेंडिंग है यह मुद्दा (फाइल फोटो)।कॉमन मिनिमम प्रोग्राम कमेटी में भी नहीं बन पाई पेंशन पर सहमति, पेंडिंग है यह मुद्दा (फाइल फोटो)।

  • पब्लिक रिलेशन डिपार्टमेंट के निदेशक ने सामाजिक न्याय विभाग के निदेशक को लिखी चिट्‌ठी
  • बजट सत्र से पहले 2 मुद्दों की काट तलाश रहे अफसर, 20 से पहले जवाब तैयार कर सीएम को देंगे रिपोर्ट

Dainik Bhaskar

Feb 15, 2020, 07:11 AM IST

चंडीगढ़ (मनोज कुमार). भाजपा और जजपा गठबंधन सरकार अपने 100 दिन से ज्यादा का कार्यकाल पूरा कर एक सौ एक वादे पूरे करने का दम भर चुकी है। परंतु उसे 20 फरवरी से शुरू होने वाले हरियाणा विधानसभा के बजट सत्र में विपक्ष की ओर से उठाए जाने वाले मुद्दों का डर भी सता रहा है। इसलिए अब वह उसकी काट ढूंढ़ने की कोशिश कर रही है। सरकार यह मान रही है कि बजट सत्र में दो बड़े मुद्दे विपक्ष उठा सकता है। इसमें एक सामाजिक पेंशन में 250 रुपए की बढ़ोतरी और दूसरा बढ़ता नशा शामिल है। ऐसे में सरकार अब इन दोनों ही मामलों में सामाजिक न्याय एवं अधिकारी विभाग और शिक्षा विभाग से आंकडे जुटाने में लगा है।

इसे लेकर बाकायदा इन्फॉर्मेशन पब्लिक रिलेशन एंड लेंग्वेज डिपार्टमेंट के निदेशक की ओर से ई-मेल के जरिए एक पत्र भी सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग को भेजा गया है, जिसमें स्पष्ट लिखा गया है कि यह दोनों मुद्दे संभावित तौर पर विपक्ष उठा सकता है। इसलिए इससे जुड़ी सूचना जल्द भिजवाई जाए। यह सूचना 17 फरवरी तक मांगी गई है। ताकि 20 फरवरी से पहले मुख्यमंत्री को इस जानकारी से अपडेट कराया जा सके। खास बात यह है कि इस पत्र में जजपा को सरकार की सहयोगी पार्टी लिखा गया है। 5100 रुपए पेंशन करने का वादा उसी ने किया था।

जजपा ने चुनावी घोषणा पत्र में 5100 रुपए पेंशन करने का किया था वादा, जबकि भाजपा ने महंगाई दर के अनुसार पेंशन बढ़ाने की कही थी बात
मुख्यमंत्री मनोहर लाल की ओर से पेंशन में 250 रुपए की बढ़ोतरी के बाद से ही विपक्ष इसे मुद्दा बना रहा है। क्योंकि जजपा ने चुनावी घोषणा पत्र में 5100 रुपए पेंशन करने का वादा किया था। जबकि भाजपा ने महंगाई दर के अनुसार पेंशन बढ़ाने की बात कही थी। जिस वक्त सीएम ने पेंशन बढ़ाने की घोषणा कि उस वक्त भी उन्होंने कहा था कि महंगाई दर के अनुसार पेंशन में बढ़ोतरी 160 रुपए बनती है लेकिन सहयोगी पार्टी के कहने पर इसमें कुछ राशि और बढ़ाई है। यानि 90 रुपए की बढ़ोतरी हुई।

ऐसे में विपक्ष लगातार जजपा पर बयानी हमला बोल रहा है। हालांकि डिप्टी सीएम एवं जजपा नेता दुष्यंत चौटाला यह कह कर बचाव कर रहे हैं कि कांग्रेस के दस साल के राज में पेंशन में सिर्फ 700 रुपए की बढ़ोतरी हुई थी। हमारी सरकार ने दो माह में 250 रुपए प्रति महीना बढ़ाया है। हालांकि पेंशन का मुद्दा कॉमन मिनिमम प्रोग्राम कमेटी के लिए भी अहम बना हुआ है। क्योंकि अभी तक इस पर कमेटी में कोई सहमति नहीं बन पाई है।

कॉमन मिनिमम प्रोग्राम कमेटी में भी नहीं बन पाई पेंशन पर सहमति, पेंडिंग है यह मुद्दा
इन्हें भी भेजा पत्र, स्कूलों और स्वास्थ्य विभाग से भी जुटाई जाएगी जानकारी सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग को 12 फरवरी को यह पत्र भेजे जाने के बाद उन्होंने प्रदेश के सभी जिला सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता अधिकारियों को चिट्ठी भेज कर सभी जिलोंं से सूचना मांगी है। इसके साथ ही यह पत्र निदेशक हायर एजुकेशन, निदेशक सेकंडरी एजुकेशन और निदेशक एलीमेंट्री एजुकेशन को फॉरवर्ड किया गया है। स्वास्थ्य विभाग को महानिदेशक को भी यह पत्र भेजा गया है। ताकि सभी जगह से पेंशन के साथ विद्यार्थियों में नशे की प्रवृत्ति की जानकारी जुटाई जा सके।
 

पब्लिक रिलेशन निदेशक ने ई-मेल से भेजे पत्र में ये लिखा
सरकार की नीतियों का प्रचार-प्रसार करने वाले इन्फॉर्मेशन पब्लिक रिलेशन एंड लेंग्वेज डिपार्टमेंट के निदेशक की ओर से 12 फरवरी को ई-मेल के जरिए एक पत्र सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग को भेजा गया। जिसमें लिखा गया कि विधानसभा बजट अधिवेशन फरवरी के दौरान विपक्ष द्वारा आपके विभाग से संबंधित मुद्दे उठाए जाने की संभावना है। इसलिए इनके बारे में टिप्पणी 17 फरवरी को ई-मेल के जरिए ही भेजने की कृपा करें। ताकि मुख्यमंत्री को प्रस्तुत की जा सके। मुद्दे ये हैं।

  • सरकार की सहयोगी पार्टी ने अपने चुनावी घोषणा पत्र वृद्धावस्था भत्ता 5100 रुपए मासिक करने का वायदा किया था। जबकि अब केवल 250 रुपए मासिक बढ़ाकर बुजुर्गों का अपमान किया है।
  • प्रदेश में 4 साल के दौरान नशे के आदी विद्यार्थियों की संख्या में कई गुणा बढ़ोतरी हुई है।
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना