चंडीगढ़ / कांग्रेस ने लोकतंत्र को कायम रखा, इसलिए नरेंद्र मोदी पीएम बन पाए पर मोदी राज में लोकतंत्र हुआ समाप्त: गहलोत



पत्रकारों को संबोधित करते अशोक गहलोत पत्रकारों को संबोधित करते अशोक गहलोत
X
पत्रकारों को संबोधित करते अशोक गहलोतपत्रकारों को संबोधित करते अशोक गहलोत

  • राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने शनिवार को हरियाणा प्रदेश कांग्रेस के कार्यालय में पत्रकारों को संबोधित किया
  • बोले मोदी और शाह राष्ट्रवाद पर लोगों को भावनात्मक बनाकर धर्म के नाम पर राजनीति कर वोट मांग रहे हैं
  • सेनाओं के पीछे छिपकर लोग लोकसभा चुनाव जीत गए, पर सवाल ये इस तरह कब तक लोगों को गुमराह करेंगे?

Dainik Bhaskar

Oct 19, 2019, 05:46 PM IST

चंडीगढ़. हरियाणा में विधानसभा चुनावों के मद्देनजर राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत शनिवार को चंडीगढ़ पहुंचे। यहां स्थित हरियाणा प्रदेश कांग्रेस के कार्यालय में उन्होंने पत्रकारों को संबोधित करते हुए मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला।

 

अपने संबोधन की शुरुआत में बोले कि लोकतंत्र के अंदर अपनी परफॉर्मेंस के आधार पर चुनावाें में वोट मांगी जाती है। पर इस वक्त देश पर राज कर रहे नरेंद्र मोदी और अमित शाह की वोट मांगने को लेकर अप्रोच बड़ी ही अजीब है।

 

दोनों चाहे महाराष्ट्र में जाएं या हरियाणा, इनके पास राज्य सरकार की उपलब्धियां बताने के कोई पाॅइंट ही नहीं रह गए हैं। ये राष्ट्रवाद पर लोगों को भावनात्मक बनाकर धर्म के नाम पर राजनीति कर वोट मांग रहे हैं। सेनाओं के पीछे छिपकर ये लोग लोकसभा चुनाव जीत गए।

 

पर मेरा सवाल इतना है कि ये इस तरह ये कब तक लोगों को गुमराह करेंगे? मोदी जी अकसर पूछते हैं कि कांग्रेस ने 36 साल में क्या किया। मैं कहता हूं कि इतिहास गवाह है। 1962, 1967 की जंगें गवाह हैं। 1971 की जंग में जब दुनिया में दूसरे विश्व युद्ध के बाद सबसे बड़ी संख्या में किसी देश के सैनिकों ने आत्मसमर्पण किया था।

 

हर रैंक के करीब 90 हजार पाक सैनिकों ने ढाका स्टेडियम में भारतीय सेना के सामने घुटने टेके थे। बाकी हमारे शासन में इसरो की उपलब्धियां देखो कहां तक पहुंच गई हैं। इंदिरा गांधी, राजीव गांधी जैसे पीएम ने देश के लिए अपनी बलिदानी दे दी। सबसे बड़ी बात कांग्रेस ने देश के लोकतंत्र को कायम रखा, तभी मोदी जी आप पीएम बन पाए हैं।

 

लेकिन दुर्भाग्यपूर्ण बात ये है कि आपके पीएम काल में देश में हिंसा और भय का माहोल कायम हुआ है। लोकतंत्र खत्म समाप्त हो गया है। 49 इंटलेक्चुअल लोग लिंचिंग को लेकर पीएम को लिखते हैं तो उन्हें राष्ट्रद्राेह करार दे दिया जाता है। आज सीबीआई, ज्यूडिशरी, आईटी दबाव में काम कर रही है।

 

पीएम बनकर जो राज कर रहा है,वह देश को कहां ले जाएगा ये सोचने की बात है। गहलौत ने आगे कहा कि मोदी सरकार ने अपने मैनिफेस्टो में जो वायदे किए थे, उनके बारे में कोई पूछे तो कोई जवाब नहीं होता। वह काले धन की बात नहीं करते।

 

दो करोड़ लोगों को हर साल रोजगार देना भी जुमला ही निकला। इसके बाद उन्होंने कहा कि देश में मीडिया पर जो दबाव है वो खतरनाक है। अखबार मालिकों और चौथे स्तंभ की धज्जियां उड़ गई हैं। पत्रकार जो लिखता है, उतना छपने ही नहीं दिया जाता है। जीडीपी भी पांच प्रतिशत ही रह गई है।

 

चीन के राष्ट्रपति को यहां बुलाकर कुछ नहीं होगा, खुद अमरीका जाने से कुछ नहीं होगा। पीएम इस बात का जवाब दें कि हमारा साथी नेपाल अब चीन के साथ क्यों हो गया? इसके बाद उन्होंने हरियाणा के लोगों से कांग्रेस को सत्ता में लाने की अपील की। कहा कि कांग्रेस के मैनिफेस्टो में जो जन कल्याण योजनाए हैं, वह शानदार हैं। जबकि खट्‌टर सरकार जुमलेबाजी करती आई है।
 

DBApp

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना