चंडीगढ़ / सुबह मीटिंग में नहीं पहुंचे सिद्धू, शाम को लोकल बॉडीज छीना, बिजली विभाग दिया

Department of Ministers in Punjab Government changed
X
Department of Ministers in Punjab Government changed

  • कई दिन की तनातनी के बाद कैप्टन ने सिद्धू के पर कतरे
  • लोकल बॉडीज विभाग ब्रह्म मोहिंदरा को, पर्यटन चन्नी को 
  • बलबीर सिद्धू को सेहत व सिंगला को शिक्षा विभाग

Jun 07, 2019, 05:46 AM IST

चंडीगढ़. लोकसभा चुनाव के दौरान सीएम कैप्टन ने खराब परफॉरमेंस देने वाले मंत्रियों के खिलाफ कार्रवाई करने के बयान पर मुहर लगा दी है। इसी के तहत वीरवार को कैबिनेट की बैठक के तुरंत बाद कैप्टन ने सबसे पहले निकाय मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू के पर कतरने में कोई संकोच नहीं किया। वहीं, सिद्धू सुबह हुई कैबिनेट मीटिंग में शामिल न होकर अलग प्रेस कॉन्फ्रेंस कर अपनी सफाई दी थी। शाम को मंत्रियों के विभागों में फेरबदल कर दिया गया। इसमें कई मंत्रियों की जिम्मेदारी और बढ़ गई।

 

वहीं, कुछ मंत्रियों के विभाग खुद सीएम ने अपने पास रख लिए हैं। कैप्टन ने सिद्धू से स्थानीय निकाय एवं पर्यटन विभाग लेकर अब उन्हें बिजली और नवीन ऊर्जा स्रोत विभाग सौंपा है। लोकल बॉडीज विभाग अपने सीनियर साथी ब्रह्म मोहिंदरा को दिया। मोहिंदरा के पास पहले स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग था। अब यह विभाग बलबीर सिद्धू को दिया गया है।

 

पर्यटन एवं संस्कृति विभाग चरनजीत चन्नी को दिया है, जिनके पास तकनीकी शिक्षा, औद्योगिक प्रशिक्षण और रोजगार सृजन विभाग बने रहेंगे। चन्नी का विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग सीएम ने अपने पास रखा है। कैप्टन ने 4 मंत्रियों को छोड़ बाकी सभी मंत्रियों के विभाग बदले हैं। प्रदेश प्रभारी आशा कुमारी ने फेरबदल को तर्कसंगत बताते हुए कहा चुनाव परफॉर्मेंस को देखकर विभाग नहीं बदले गए हैं।

 

सिद्धू बाेले- बॉस को मुझ पर भरोसा नहीं है, मीटिंग में क्या करता :

कैबिनेट मंत्री सिद्धू और सीएम कैप्टन के बीच दूरियां बढ़ गई हैं। एक ओर जहां पंजाब सचिवालय में कैबिनेट की बैठक चल रही थी। ठीक उसी समय सिद्धू मीटिंग में शामिल न होकर अपनी प्रेस कांफ्रेंस कर रहे थे। सिद्धू ने कहा कि वह किसी व्यक्ति विशेष के प्रति नहीं बल्कि पंजाब के लोगों के प्रति जवाबदेह हैं। उन्होंने कहा कि केवल उनके विभाग को ही टारगेट किया जा रहा है। कैप्टन की दूसरी ऐसी मीटिंग है जिसमें सिद्धू नहीं पहुंचे हैं। कैबिनेट में न जाने पर सिद्धू ने कहा कि हां बुलावा आया था। लेकिन जब मेरे बॉस (सीएम) का ही मुझ पर विश्वास नहीं रह गया है तो मैं वहां जाकर क्या करता।

 

विधानसभा वाइज जीती कांग्रेस : सिद्धू :
हार का ठीकरा सिर फूटने के बाद अब सिद्धू ने किस विधानसभा में कांग्रेस जीती उसके बारे में भी बताया। कहा- 25 शहरी विधानसभा क्षेत्रों में से 16 में कांग्रेस जीती है। मुझे अमृतसर और तरनतारन की जिम्मेदारी सौंपी गई थी। यहां कांग्रेस जीती है। 
 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना