बहुचर्चित गुड़िया मर्डर केस / डॉक्टर्स ने दी गवाही- पुलिस कस्टडी में हुई सूरज की मौत



Doctor gave statement, Suraj died in Police custody.
X
Doctor gave statement, Suraj died in Police custody.

  • आरोपी सूरज की पुलिस कस्टडी में हुई थी मौत, सीबीआई कोर्ट में सुनवाई
  • 2017 में कोटखाई में एक लड़की का रेप कर मर्डर कर दिया गया था, केस में पुलिस ने 5 आरोपियों को पकड़ा था

Dainik Bhaskar

Aug 08, 2019, 02:31 PM IST

चंडीगढ़. गुड़िया मर्डर केस के एक आरोपी सूरज की पुलिस कस्टडी में हुई मौत के मामले में चंडीगढ़ सीबीआई कोर्ट में सुनवाई हुई। सूरज का मेडिकल करने वाले 2 डॉक्टरों ने कोर्ट में गवाही दी। एक डॉक्टर अमित चौहान ने कोर्ट में कहा कि जिस समय सूरज और बाकी आरोपियों को पकड़ा गया था तो उन्होंने ही सभी का मेडिकल किया था। तब सूरज के शरीर पर चोट के कोई निशान नहीं थे।

 

यानी सूरज को जो भी चोटें लगी जोकि उसकी मौत का कारण बनी, वह उसे पुलिस कस्टडी में ही लगी थीं। डॉक्टर की इस गवाही से आरोपी पुलिस कर्मियों की मुश्किलें बढ़ गई हैं। इस केस में शिमला के आईजी से लेकर कांस्टेबल तक 9 लोगों को आरोपी बनाया गया है। अब मामले की अगली सुनवाई 16 अगस्त को होगी। ये केस सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों पर शिमला से चंडीगढ़ ट्रांसफर हुआ है।


आरोपियों की कस्टडी का फैसला 16 को होगा:  इस केस में आरोपी कोटखाई थाने के पूर्व एसएचओ राजिंदर सिंह, दो कांस्टेबल रफी मोहम्मद और रंजीत ने 24 जुलाई को चंडीगढ़ सीबीआई कोर्ट में एप्लीकेशन दी थी जिसमें उन्होंने कहा था कि उन्हें बुड़ैल जेल की बजाय शिमला जेल में ट्रांसफर किया जाए। उनकी इस एप्लीकेशन पर 16 अगस्त को फैसला होगा। सीबीआई ने उनकी एप्लीकेशन का विरोध किया। सीबीआई के वकील ने कहा कि आरोपियों को बुड़ैल जेल में ही रखा जाना चाहिए। इन तीनों समेत कुल 6 आरोपी बुड़ैल जेल में हैं।

 

ये था मामला: बता दें कि 2017 में कोटखाई में एक लड़की का रेप कर मर्डर कर दिया गया था। उस केस में पुलिस ने 5 आरोपियों को पकड़ा था जिनमें सूरज नाम का आरोपी भी था। लेकिन 18 जुलाई 2017 को सूरज की संदिग्ध हालत में मौत हो गई थी। सीबीआई जांच में सामने आया कि पुलिस के टॉर्चर से उसकी मौत हुई थी। इस केस में सीबीआई ने आईजीपी जहूर एच. जैदी, एसपी डीडब्ल्यू नेगी, ठियोग डीएसपी मनोज जोशी, कोटखाई के पूर्व एसएचओ राजिंदर सिंह, एएसआई दीप चंद, हेड कांस्टेबल सूरत सिंह, मोहन सिंह, रफी मोहम्मद अली और कांस्टेबल रंजीत को आरोपी बनाया।

 

DBApp

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना