चंडीगढ़ / रिटायर्ड फौजी जज के सामने अंग्रेजी में चिल्लाने लगा, डॉक्यूमेंट्स पर साइन भी नहीं किए



Former army man who entered the hospital sent to jail
Former army man who entered the hospital sent to jail
X
Former army man who entered the hospital sent to jail
Former army man who entered the hospital sent to jail

  • हॉस्पिटल में चाकू लेकर घुसा था रिटायर्ड फौजी, बोला था-डॉक्टर को भेजो, उसे मार दूंगा
  • 8 पुलिस कर्मियों के पहरे में भेजा जेल

Dainik Bhaskar

Sep 12, 2019, 10:30 AM IST

डेराबस्सी. हाथ में चाकू लिए डेराबस्सी सिविल अस्पताल में रविवार रात 1 घंटे तक दशहत फैलाने का आरोपी रिटायर्ड फौजी 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया। गैंगस्टर जैसी आरोपी की दहशत पुलिस के चेहरे पर साफ देखी जा सकती थी।

 

पुलिस आरोपी से सीधी बात करने से भी परहेज कर रही थी। कोर्ट रूम में फौजी चिल्लाया तो जज की फटकार के बाद पुलिस उसे बाहर ले गई। उसे कोर्ट में पेशी से लेकर जेल छोड़ने में 8 पुलिस कर्मियों की ड्यूटी लगी जो पुलिस थाना प्रभारी के वाहन में उसे पटियाला छोड़कर आए।

 

रिटायर्ड फौजी ने उसे पकड़ने आए पुलिस के ड्यूटी अफसर को भी चाकू मारकर जख्मी कर दिया था। जख्मी ड्यूटी अफसर एएसआई गुरमुख सिंह की शिकायत पर रिटायर्ड मेजर 61 वर्षीय गोविंद बख्शीश सिंह वासी सेक्टर-18, चंडीगढ़ के खिलाफ आईपीसी 323, 324, 325, 451, 332, 506, 353 और 186 के तहत डेराबस्सी थाने में केस दर्ज किया गया है।

 

बैरक में अकेले ही रखा
अस्पताल की हरी बेडशीट व शर्ट पहने फौजी जिस वेशभूषा में था, वही कपड़े पहने हुए था। हिरासत में फौजी को जिस बैरक में रखा, उसमें किसी दूसरे को जगह नहीं दी गई। उससे बातचीत करने से परहेज रखा गया। कहीं डिस्टर्ब होकर वह गले न पड़े जाए या फिर से उत्पात न मचा दे, पुलिस इसी अहतियात में लगी रही। उसका पुलिस रिमांड मांगना तो एकतरफ, पुलिस ने उसे दुत्कारने तक की जहमत नहीं उठाई।

 

नहीं करवाया मेडिकल
फौजी अपनी ही धुन में रहा। अकेला होता तो तैश में आकर अंग्रेजी में जोर जोर से चिल्लाने लगता। पेशी से पहले आरोपी के फिंगर प्रिंट्स व मेडिकल कराया जाता है। फौजी ने फिंगर प्रिंट्स देने और मेडिकल कराने से साफ मना कर दिया। किसी ने उस पर सख्ती दिखाने की कोशिश भी नहीं की।

 

सरकारी वकील करने से मना किया
कोर्ट में पहुंचकर उसने सरकारी वकील करने से मना कर दिया। अदालत में वह जज के सामने भी जोर जोर से अंग्रेजी में चिल्लाने लगा जिस पर जज ने उसे फटकार लगाते हुए पुलिस को तुरंत कोर्ट कक्ष से बाहर ले जाने को कहा। फौजी ने किसी भी दस्तावेज पर साइन नहीं किया।

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना