पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बजट पेश करने से पहले कैप्टन अभिमन्यु ने घर में किया हवन, आज मनोहर सरकार का अखिरी बजट

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

चंडीगढ़। हरियाणा सरकार ने केंद्र की पीएम किसान सम्मान निधि योजना की तर्ज पर किसान पेशन योजना की घोषणा की है। वित्तमंत्री कैप्टन अभिमन्यु ने सोमवार को बजट पेश करते हुए किसानों की पेशन के लिए 1500 करोड़ रुपए का बजट आवंटित किया है। इस बार बजट में किसी तरह का कोई नया कर नहीं लगाया गया है।  

 

सरकार की नई पेशन योजना का लाभ 5 एकड़ तक की भूमि वाले काश्तकार किसान परिवारों और असंगठित क्षेत्र में लगे श्रमिकों के परिवारों को यह पेशन देने का फैसला किया है। इसका फायदा वे किसान उठा सकते हैं जिनकी मासिक आय 15 हजार रुपए से कम है।

 

वित्तमंत्री ने कहा कि हरियाणा के इतिहास में पहली बार एकमुश्त इतनी बड़ी राशि का ऐलान किसी एक सेक्टर के लिए किया गया है। इस योजना का लाभ भारत सरकार की योजना के अतिरिक्त मिलेगा। इसकी डिटेल जल्द साझा की जाएगी।  

 

कृषि क्षेत्र के बजट में की गई मामूली बढ़ोतरी
कृषि एवं सम्बद्ध गतिविधियों के लिए बजट अनुमान 2019-20 में 3834.33 करोड़ रुपए रखा गया है जोकि 2018-19 के 3670.29 करोड़ रुपए बजट की तुलना में 4.5 प्रतिशत ज्यादा है। इसमें कृषि क्षेत्र के लिए 2210.51 करोड़ रुपए, पशुपालन के लिए 1026.68 करोड़ रुपए, बागवानी के लिए 523.88 करोड़ रुपए, और मत्स्य पालन के लिए 73.26 करोड़ रुपए का परिव्यय शामिल है।

 

हवन करके बजट पेश करने पहुंचे वित्तमंत्री

वित्तमंत्री ने चंडीगढ़ स्थित अपने आवास पर सुबह-सुबह हवन किया। इस हवन में उनकी पत्नी और कुछ सहयोगी शामिल हुए। 

 

कौटिल्य के अर्थशास्त्र के उदाहरण से बजट अभिभाषण शुरु किया

अभिमन्यु ने कौटिल्य के अर्थशास्त्र के उदाहरण से अपना बजट अभिभाषण शुरु किया। वित्तमंत्री ने बजट अभिभाषण की शुरुआत में कहा कि प्रजा सुखे राजः प्रजानां च हिते हितम्। नात्मप्रियं प्रियं राजः प्रजानां तु प्रियं प्रियम्। अर्थात प्रजा के सुख में हरियाणा का सुख है, प्रजा के हित में सरकार का हित है, प्रजा को जो प्रिय है, वही सरकार को प्रिय है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज घर के कार्यों को सुव्यवस्थित करने में व्यस्तता बनी रहेगी। परिवार जनों के साथ आर्थिक स्थिति को बेहतर बनाने संबंधी योजनाएं भी बनेंगे। कोई पुश्तैनी जमीन-जायदाद संबंधी कार्य आपसी सहमति द्वारा ...

और पढ़ें