लोकसभा चुनाव / इनेलो छोड़कर रामपाल माजरा ने भाजपा का दामन थामा, सीएम और प्रदेशाध्यक्ष ने शामिल करवाया



रामपाल माजरा को भाजपा में शामिल करवाते हुए सीएम मनोहर लाल। रामपाल माजरा को भाजपा में शामिल करवाते हुए सीएम मनोहर लाल।
प्रेसवार्ता में मौजूद सीएम मनोहर लाल, प्रदेशाध्यक्ष सुभाष बराला, नेता रामपाल माजरा और नेता दुड़ाराम। प्रेसवार्ता में मौजूद सीएम मनोहर लाल, प्रदेशाध्यक्ष सुभाष बराला, नेता रामपाल माजरा और नेता दुड़ाराम।
X
रामपाल माजरा को भाजपा में शामिल करवाते हुए सीएम मनोहर लाल।रामपाल माजरा को भाजपा में शामिल करवाते हुए सीएम मनोहर लाल।
प्रेसवार्ता में मौजूद सीएम मनोहर लाल, प्रदेशाध्यक्ष सुभाष बराला, नेता रामपाल माजरा और नेता दुड़ाराम।प्रेसवार्ता में मौजूद सीएम मनोहर लाल, प्रदेशाध्यक्ष सुभाष बराला, नेता रामपाल माजरा और नेता दुड़ाराम।

  • चंडीगढ़ में सीएम मनोहर लाल खट्टर और प्रदेशाध्यक्ष सुभाष बराला ने की प्रेसवार्ता

Dainik Bhaskar

Sep 21, 2019, 12:15 PM IST

चंडीगढ़. हरियाणा में विधानसभा चुनाव के चलते पार्टियों के जोड़-तोड़ जारी है। शनिवार को इनेलो छोड़कर रामपाल माजरा ने भारतीय जनता पार्टी का दामन थाम लिया। इस दौरान सीएम मनोहर लाल खट्टर और प्रदेशाध्यक्ष सुभाष बराला मौजूद रहे। कांग्रेस नेता दुड़ाराम भी भाजपा में शामिल हुए।

 

रामपाल माजरा ने कहा कि इनेलो के संघर्ष के दिनों में मैं उनके साथ रहा। 40 साल इनेलो से जुड़ा रहा। आज भी चौधरी ओमप्रकाश चौटाला और अभय चौटाला का सम्मान करता हूं। इनेलो ने किसानों की लड़ाई से शुरूआत की थी आज पीएम मोदी ने किसानों को 6-6 हजार रुपए खातों में देकर उनकी सहायता की है। 11 करोड़ किसानों को फायदा पहुंचा है। उज्जवला योजना के तहत गैस कनेक्शन बांटे हैं, पारदर्शी तरीके से मनोहर लाल ने नौकरियां दी है। इस वजह से उन्होंने भाजपा ज्वाइन की है। 

 

माजरा ने कहा कि विपक्ष बिखरा हुआ है। निश्चित रुप से भाजपा की सरकार बनेगी और सीएम मनोहर लाल खट्टर दोोबारा मुख्यमंत्री बनेंगे। पार्टी द्वारा टिकट दिए जाने पर उन्होंने कहा कि बतौर कार्यकर्ता भाजपा में शामिल हुआ हूं यदि पार्टी चुनाव लड़ने का मौका देगी तो चुनाव भी लड़ूंगा।  

 

वहीं सीएम खट्टर ने कहा है कि चुनाव आयोग की दोपहर 12 बजे प्रेसवार्ता है, ऐसे में स्वभाविक है कि चुनाव की घोषणा हो सकती है। उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी 75 पार लक्ष्य पूरा करेगी। सबसे बड़ी चुनौती किस पार्टी से है, इस के सवाल पर सीएम ने कहा कि विपक्ष बिखरा हुआ है। लेकिन अगर सांपला-किलोई की बात करें तो स्वभाविक है कि मुकाबला भूपेंद्र सिंह हुड्डा से है। अगर ऐलानाबाद की बात करें तो मुकाबला इनेलो से ही होगा। ऐसे में अलग-अलग जगह कहीं कांग्रेस, कहीं इनेलो तो कहीं निर्दलीय उम्मीदवारों से टक्कर होनी है। 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना