चंडीगढ़ / सिटी सेंटर केस में सुमेध सैनी की याचिका अनावश्यक करार, हाईकोर्ट ने याचिका खारिज की

पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट चंडीगढ़ पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट चंडीगढ़
X
पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट चंडीगढ़पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट चंडीगढ़

  • जस्टिस ने फैसले में कहा कि 27 नवंबर 2019 को ट्रायल कोर्ट ने इस मामले में कैंसिलेशन रिपोर्ट को स्वीकार कर लिया है, अब सुनवाई का कोई मतलब नहीं 

Dainik Bhaskar

Dec 23, 2019, 07:03 PM IST

चंडीगढ़. बहुचर्चित सिटी सेंटर स्कैम मामले में पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के हक में विजिलेंस ब्यूरो की कैंसिलेशन रिपोर्ट के खिलाफ पूर्व डीजीपी सुमेध सिंह सैनी द्वारा पक्ष रखे जाने की अनुमति दिए जाने की मांग याचिका पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट ने अनावश्यक करार दे दी है।

जस्टिस अरविंद सिंह सांगवान ने फैसले में कहा कि 27 नवंबर 2019 को ट्रायल कोर्ट ने इस मामले में कैंसिलेशन रिपोर्ट को स्वीकार कर लिया है। ऐसे में अब इस मामले पर सुनवाई का कोई मतलब नहीं है।

कोर्ट में डीएसपी जसविंदर सिंह ने कहा कि विजिलेंस ब्यूरो ने कैंसिलेशन रिपोर्ट दी है जिसे ट्रायल कोर्ट ने मंजूर कर लिया है। हाईकोर्ट ने इसके बाद मामले पर सुनवाई से इंकार कर दिया। इससे पहले सुमेध सैनी का पक्ष रखे जाने की मांग को लुधियाना के जिला सेशन जज ने खारिज कर दिया था।

इसके बाद हाईकोर्ट में याचिका दायर की गई थी। गौरतलब है कि विजिलेंस ने सूबे में कांग्रेस सरकार बनते ही कैप्टन के खिलाफ कैंसिलेशन रिपोर्ट दायर कर दी थी। इसके चलते यह केस दर्ज होने के दौरान विजिलेंस डायरेक्टर रहे सैनी ने अर्जी दायर की थी कि कैंसिलेशन रिपोर्ट पर फैसला लेने से पहले कोर्ट को उनका पक्ष भी सुनना चाहिए।

कंटेंट: ललित कुमार

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना