सवाल / केंद्र बताए पंजाब-हरियाणा की राजधानी चंडीगढ़ कैसे है: हाईकोर्ट

High court seeks answers from the Center regarding Chandigarh
X
High court seeks answers from the Center regarding Chandigarh

  • पंजाब-हरियाणा सरकारें कागजों में साबित नहीं कर पाई कि चंडीगढ़ उनकी राजधानी है
  • याची ने कहा चंडीगढ़ में एससी का लाभ मिल रहा लेकिन पंजाब में नहीं मिल रहा

दैनिक भास्कर

Aug 30, 2019, 11:06 AM IST

चंडीगढ़. पंजाब-हरियाणा की सरकारें कागजों पर यह साबित नहीं कर पा रहे हैं कि उनकी राजधानी चंडीगढ़ है। ऐसे में अब हाईकोर्ट ने केंद्र सरकार से इस मामले में जवाब मांगा है। जस्टिस राकेश कुमार जैन और जस्टिस अरुण कुमार त्यागी की खंडपीठ ने वीरवार को केंद्र सरकार के गृह मंत्रालय के सचिव को प्रतिवादी बनाते हुए उनसे अब इस मामले में जवाब मांगा है।

 

वीरवार को सुनवाई के दौरान हरियाणा सरकार की तरफ से समय दिए जाने की मांग की गई। वहीं, पंजाब सरकार की तरफ से सुप्रीम कोर्ट के फैसले का हवाला दिया जा रहा था कि कोर्ट ने इन दलीलों को स्वीकार न करते हुए केंद्र सरकार को प्रतिवादी बना लेने की बात कही।

 

कोर्ट ने इस मामले में दोनों राज्यों को कोई डॉक्युमेंट पेश करने को कहा था, जिससे साबित हो सके कि पंजाब व हरियाणा की राजधानी चंडीगढ़ है।

 

एससी कैटेगरी का लाभ नहीं मिल रहा...

याची फूल सिंह ने कहा कि वह चंडीगढ़ का निवासी है और उसे यहां एससी कैटेगरी का लाभ दिया जा रहा है लेकिन पंजाब व हरियाणा में उसे जनरल कैटेगरी में माना जा रहा है। हाईकोर्ट ने इस याचिका पर पंजाब-हरियाणा के एडवोकेट जनरल से कहा था कि कोई ऐसी नोटिफिकेशन पेश की जाए, जिससे यह साबित हो कि पंजाब-हरियाणा की राजधानी चंडीगढ़ है।

 

याचिका में कहा गया कि वे पेशे से वकील हैं और एडिशनल डिस्ट्रिक्ट एंड सेशंस जज के पद के लिए उनसे प्राथमिक परीक्षा पास भी कर ली थी लेकिन मुख्य परीक्षा में उन्हें फेल कर दिया गया। चंडीगढ़ में उन्हें जहां एससी का लाभ दिया जा रहा है, वहीं पंजाब-हरियाणा में जनरल कैटेगरी में माना जा रहा है, जिसके चलते उसका चयन नहीं किया गया।

 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना