पंजाब / बिजली समझौते रद्द नहीं किए तो कैप्टन के मोती महल की बिजली गुल करेगी आप

प्रतीकात्मक फोटो। प्रतीकात्मक फोटो।
X
प्रतीकात्मक फोटो।प्रतीकात्मक फोटो।

  • बजट सत्र से पहले आप विधायक दल की मीटिंग में लिया फैसला
  • मीटिंग के दौरान पुलवामा शहीदों को श्रद्धांजलि देने के लिए 2 मिनट मौन रखा

Dainik Bhaskar

Feb 15, 2020, 05:02 AM IST

चंडीगढ़. पंजाब विधानसभा के बजट सत्र में विवादित बिजली समझौतों को लेकर हंगामा होने के आसार हैं। इस मामले को लेकर आप नेताओं का कहना है कि अगर बिजली समझौतों को रद्द करने के लिए कोई ठोस कदम नहीं उठाए तो आप की ओर से सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह के मोती महल की बिजली के कनेक्शन काट दिए जाएंगे।

बजट सत्र के मद्देनजर ‘आप’ विधायक दल की बैठक के दौरान यह फैसला लिया गया। बैठक विपक्ष के नेता हरपाल सिंह चीमा की अध्यक्षता में हुई। इससे पहले 2 मिनट का मौन रखकर पुलवामा के शहीदों को श्रद्धांजलि दी गई। चीमा ने कहा कि दिल्ली में आप की जीत का असर न केवल पंजाब बल्कि पूरे देश में दिख रहा है, क्योंकि यह सांप्रदायिक और लोगों में दरार डालने वाली सोच पर काम की राजनीति की जीत है।

चीमा ने कहा कि दिल्ली चुनाव ने कांग्रेस को एक बार फिर जीरो साबित किया और पंजाब में भी कांग्रेस का यही हश्र होना यकीनी है। पंजाब में माफिया राज की जड़ें लगाने वाले व बेअदबी के आरोपी बादलों को लोगों के साथ-साथ भाजपा ने भी मुंह लगाना बंद कर दिया है। चीमा ने कहा कि केजरीवाल का विकास माडल पंजाब में भी सुपरहिट रहेगा।
 

इन प्रस्तावों को सेशन के दौरान लाएगी आप
अरोड़ा ने कहा कि बजट सत्र के दाैरान पार्टी बिजली समझौते रद्द करने, आवारा पशूओं, शराब निगम समेत अलग-अलग मुद्दों पर प्रस्ताव और प्राइवेट मेंबर बिल सदन में ला रही है। पार्टी की कोर समिति की बैठक 20 फरवरी को हो रही है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना