मौसम / 9 दिनों में 208.5 एमएम बारिश, सुखना लेक का वाटर लेवल करीब 4 फीट ऊपर



सुखना लेक सुखना लेक
X
सुखना लेकसुखना लेक

  • तीन फीट और पानी मिलेगा तो लेक से पानी निकालने के लिए इस साल भी खोलने पड़ेंगे गेट
  • पिछले साल भी करीब एक घंटा तक पानी छोड़ना पड़ा था इस लेक से

Dainik Bhaskar

Jul 14, 2019, 11:27 AM IST

चंडीगढ़. इस साल प्री-मानसून से लेकर अभी तक पिछले 9 दिनों में करीब 208.5 एमएम बारिश हुई है। अच्छी बारिश के चलते सुखना लेक का वाटर लेवल करीब चार फीट बढ़ गया है। एक्सपर्ट की मानें तो अगर ऐसे ही तीन चार दिन और बारिश होती है तो सुखना लेक से पानी छोड़ने के लिए दोबारा इस साल भी गेट खोलने पड़ेंगे।

 

अगर मानसून के दौरान बारिश का कम्पेरिजन देखें तो पिछले साल जुलाई 2018 में पूरे महीने में कुल 219.7 एमएम बारिश रिकाॅर्ड हुई थी जबकि जुलाई 2017 में 242 एमएम बारिश। इस बार मानसून के पहले हफ्ते में ही 208.5 एमएम बारिश चंडीगढ़ में रिकाॅर्ड हो चुकी है। बारिश के बाद जहां सुखना लेक के वाटर लेवल में बढ़ोतरी हुई है वहीं लेक के लिए सुखना कैचमेंट एरिया से पानी लाने वाले वाटर चैनल में भी अच्छा पानी है और लेक से थोड़ा पीछे ही स्टोरेज भी पानी की है।

 

सुखना में पानी 1160 फीट के पास...
अच्छी बारिश के बाद सुखना लेक में शनिवार दोपहर तक ही पानी का लेवल 1160 फीट(समुंद्र तल से) तक पहुंच चुका था। जो बारिश शनिवार को हुई है उससे करीब आधा फीट पानी और लेक का बढ़ेगा क्योंकि सुखना कैचमेंट एरिया से जो पानी सुखना तक पहुंचता है उससे ही इसका पानी का लेवल बढ़ता है। सुखना लेक का मैक्सिमम वाटर लेवल 1163 फीट है। करीब 3 फीट पानी और अगर लेक में पहुंचता है तो इसके गेट इस बार भी खोलने पड़ेंगे।

 

पिछले साल भी एक घंटे से ज्यादा तक सुखना के गेट खोल कर पानी छोड़ा गया था। इससे पहले वर्ष 2008 में ही यहां से पानी छोड़ने को लेकर गेट खोले गए थे। इस हफ्ते से पहले तक लेक में करीब 1156 फीट के लेवल तक पानी था। लेक के जल्दी पानी भरने का एक कारण ये भी है कि इसमें गाद ज्यादा आ गई है। इसके चलते इसकी कैपेसिटी कम हो गई और जल्दी लेक में पानी भर जाता है। इस साल अच्छी बारिश होने का मतलब यही होगा कि अगले साल भी गर्मियों में सुखना नहीं सूखेगी।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना