सहायता / 10वीं से 12वीं क्लास के स्टूडेंटस को स्कूलों में पढ़ाया जाए ऑर्गन डोनेशन का पाठ: पीजीआई



Information will be given to students for Argan Donate
X
Information will be given to students for Argan Donate

  • पीजीआई की कमेटी ने हाईकोर्ट में दी रिपोर्ट
  • कमेटी ने ट्रांसप्लांट कोऑर्डिनेटर की नियुक्ति करने की सिफारिश की 

Dainik Bhaskar

May 17, 2019, 11:07 AM IST

चंडीगढ़. पीजीआई चंडीगढ़ के डॉक्टरों की कमेटी ने हाईकोर्ट में ऑर्गन डोनेशन को पारदर्शी व सरल बनाने के लिए अपनी रिपोर्ट दी। इसमें सिफारिश की कि अंगदान के महत्व को समझाने के लिए इसका पाठ स्कूलों में 10वीं से 12वीं कक्षा में जरूरी रूप से पढ़ाया जाए।
साथ ही जीते जी अंगदान करने वालों के डोनर कार्ड बनाए जाएं और उन्हें यूनीक आईडेंटिफिकेशन नंबर दिया जाए। नेशनल लेवल पर इन लोगों को रजिस्टर किया जाए, जिससे और लोगों को भी प्रोत्साहन मिले।

 

पंजाब-हरियाणा व चंडीगढ़ के हर उस अस्पताल, जिसमें आईसीयू की सुविधा उपलब्ध है ब्रेन डेथ डिक्लेरेशन को जरूरी किया जाए। इससे रोगी के परिवार को समय मिल सकेगा कि वह चाहे तो अस्पताल में एडमिट पेशेंट के अंगदान कर सकें। यही नहीं रोगी को आईसीयू में अस्पताल के महंगे खर्च पर रखने से भी बचा जा सकेगा। जिन अस्पतालों में आईसीयू की सुविधा ज्यादा बेहतर नहीं है, उन्हें दूसरे अस्पतालों तक पहुंचने के लिए फ्री एक्सेस दिया जाए।

 

हर अस्पताल के आईसीयू के बाहर भी अंगदान के लिए हेल्पलाइन नंबर और सभी जरूरी नियमों को डिस्प्ले किया जाए। कमेटी ने अंगदान के लिए प्रोत्साहित करने के लिए ट्रांसप्लांट कोऑर्डिनेटर की नियुक्ति करने की सिफारिश भी की। कमेटी ने ऑर्गन आर द स्टिंग के लिए अस्पतालों को एफिलेटेड करने की सिफारिश भी की गई।

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना