• Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • Instructions issued by the administration on the orders of the High Court, invoice will be given on the name or sticker on the vehicles

सख्ती / हाईकोर्ट के आदेश पर प्रशासन ने जारी किए निर्देश- गाड़ियों पर नाम या स्टिकर लगाने पर होगा चालान

सिंबोलिक इमेज सिंबोलिक इमेज
X
सिंबोलिक इमेजसिंबोलिक इमेज

  • एडवाइजर की मंजूरी के बाद चंडीगढ़ प्रशासन का ट्रांसपोर्ट डिपार्टमेंट करेगा कार्रवाई
  • किसी भी गाड़ी पर कोई पद नहीं लिख सकते हैं, वरना होगा 500 रुपए का चालान

दैनिक भास्कर

Feb 07, 2020, 11:44 AM IST

चंडीगढ़. अगर गाड़ी पर अपने काम या फिर पद के बारे में लिखा है तो इसे फौरन हटा लें। क्योंकि ट्रैफिक पुलिस इसको लेकर अब चालान कर सकती है। पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट के आदेशों के बाद अब चंडीगढ़ प्रशासन ने गाड़ियों पर स्टिकर वगैरह लगाने को लेकर पाबंदी लगाने के निर्देश जारी कर दिए हैं।

एडवाइजर मनोज परिदा की मंजूरी के बाद वीरवार को चंडीगढ़ प्रशासन के ट्रांसपोर्ट डिपार्टमेंट की तरफ से ये निर्देश दिए गए। इसमें हाईकोर्ट के आदेशों का हवाला दिया गया है। ट्रैफिक पुलिस और संबंधित सभी डिपार्टमेंट्स को भी लेटर भेज दिए गए हैं। ये आदेश तुरंत प्रभाव से लागू किए गए हैं। अब अगर कोई इन निर्देशों का उल्लंघन करता है तो उसका 500 रुपए का चालान काटा जाएगा। हालांकि अभी तक ये कन्फ्यूजन है कि किस तरह के नाम लिखने पर पाबंदी है और किस तरह की चीजें गाड़ी पर लिख सकते हैं।

ट्रांसपोर्ट डिपार्टमेंट की तरफ से जारी निर्देशों में कहा गया है कि किसी भी तरह की गाड़ी चाहे गवर्नमेंट हो या फिर प्राइवेट, उस पर कोई स्टिकर नहीं लगा होना चाहिए। न ही उस पर किसी डिपार्टमेंट का नाम या पोस्ट लिखी हो। जैसे चेयरमैन, वाइस चेयरमैन, सेक्रेटरी, प्रेसिडेंट या इसी तरह का कोई पद नहीं लिख सकते हैं। सांसद की तरफ से उनकी गाड़ी में पद लिखने को लेकर छूट प्रशासन से मांगी गई थी, लेकिन अब प्रशासन की तरफ से जारी किए गए निर्देशों में साफ तौर पर कहा गया है कि किसी भी गाड़ी पर कोई पद नहीं लिख सकते हैं।

ये हैं अब नियम...

  • 1. किसी भी सरकारी या प्राइवेट गाड़ी पर कोर्ट, आर्मी, एयरपोर्ट, नेवी, पुलिस, प्रेस व इसी तरह के शब्द नहीं लिख सकते हैं।
  • 2. गवर्नमेंट, यूटी एडमिनिस्ट्रेशन जैसे शब्द भी गाड़ी में सिर्फ उस समय ही लिखे जा सकते हैं, जब गाड़ी में बैठे अफसर या इम्प्लाॅई सरकारी ड्यूटी पर होंगे। अगर गाड़ी में बैठे अफसर या स्टाफ सरकारी ड्यूटी पर नहीं होगा तो उस समय ये शब्द गाड़ी में अगर लिखे हुए होंगे तो इसका भी चालान होगा।
  • 3. डिस्ट्रिक्ट मैजिस्ट्रेट, एडिशनल डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट, डाॅक्टर्स, एबुलेंस, फायर ब्रिगेड में भी सिर्फ उसी समय पद डिस्पले कर सकते हैं, जब अफसर या मेडिकल अफसर ड्यूटी पर होंगे। इमरजेंसी के दौरान पोस्ट लिखी जा सकती है।
     

कुछ लिखा मिला तो होगा 500 रु. का चालान
गवर्नमेंट हो या फिर प्राइवेट, उस पर कोई स्टिकर नहीं लगा होना चाहिए। न ही उस पर किसी डिपार्टमेंट का नाम या पोस्ट लिखी हो। जैसे चेयरमैन, वाइस चेयरमैन, सेक्रेटरी, प्रेसिडेंट या इसी तरह का कोई पद नहीं लिख सकते हैं। सांसद की तरफ से उनकी गाड़ी में पद लिखने को लेकर छूट प्रशासन से मांगी गई थी, लेकिन अब प्रशासन की तरफ से जारी किए गए निर्देशों में साफ तौर पर कहा गया है कि किसी भी गाड़ी पर कोई पद नहीं लिख सकते हैं।
 

पंचकूला-मोहाली में अभी अवेयर कर रही पुलिस

मोहाली-पंचकूला में ट्रैफि पुलिस अभी लोगों को अवेयर कर रही है कि वे खुद ही अपनी गाड़ी से स्टिकर हटा लें। नोटिफिकेशन न मिलने के चलते मोहाली पुलिस अभी स्टिकर के चालान नहीं कर रही है। वीरवार को मोहाली में पुलिसवालों ने लोगों को अवेयर किया।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना