पंजाब / आईपीएस आया आईपीएस आया...सिपाहियों ने किया सैल्यूट, शिकायत नहीं लिख पाया ताे खुली पोल



IPS came IPS came ... Sailut started to play in the police station;
X
IPS came IPS came ... Sailut started to play in the police station;

  • जिम के स्पा में ताला लगाने के विरोध पर हंगामा किया, खुद ही थाने पर पहुंच गया
  • पिता ने कहा- बेटा मेंटली अपसेट है और उसका इलाज चल रहा है

Dainik Bhaskar

Jul 12, 2019, 04:21 PM IST

पटियाला. यहां एक फर्जी आईपीएस अधिकारी पुलिस के शिकंजे में फंसा है। खास बात यह है कि वह खुद ही एक जिम संचालक की शिकायत लेकर थाने पहुंचा था। आईपीएस वर्दी पहनकर थाने पहुंचा तो वहां हर कोई अलर्ट हो गए। गेट पर खड़े सिपाही ने कहा कि आईपीएस आया...आईपीएस आया...! थाने में मौजूद पुलिसकर्मियों ने बकायदा सैल्यूट किया।

 

लेकिन, फर्जी आईपीएस का यह नाटक थोड़ी देर ही चल पाया। क्योंकि, जैसे ही पुलिसकर्मियों ने उससे शिकायत लिखने की कहा तो उसके हाथ कांपने लगे। इस पर पुलिसकर्मिया को शक हुआ। उन्होंने आईपीएस की वर्दी पहने युवक से आईकार्ड मांगा तो फिर पूरी पोल खुल गई। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया।

 

पहले जिम में किया था हंगामा

पुलिस ने बताया कि आईपीएस की वर्दी पहनकर थाने आने वाले युवक का नाम अमनदीप है। वह 15 दिन से फर्जी आईपीएस बन लोगों काे बेवकूफ बनाता रहा। 27 जून को अमनदीप ने लहल कॉलोनी के जिम में खुद को आईपीएस बताकर जिम ज्वाइन किया। मंगलवार देर शाम वह वर्दी पहनकर जिम करने पहुंचा था। उसने जिम के स्पा रूम में ताला लगा दिया। विरोध पर ट्रेनर से भिड़ गया। कहासुनी के बाद खुद ही थाने पहुंच गया।

 

पिता बोले- बहुत परेशान हूं, बेटा अपसेट है

पुलिस ने आरोपी के पिता स्वर्णजीत सिंह को फोन करके थाने बुलाया। पिता ने बताया कि उनका बेटा अमनदीप सिंह मेंटली अपसेट है और उसका इलाज चल रहा है। लेकिन जब उनसे बेटे की हरकतों, वर्दी में घर से निकलने, गाड़ी पर पुलिस के स्टिकर लगाने को लेकर पूछा तो उन्होंने कोई भी टिप्पणी करने से इंकार कर दिया। 

 

2 साल पहले हुई थी शादी पत्नी छोड़ कर चली गई

आरोपी अमनदीप सिंह की 2 साल पहले शादी हुई थी। लेकिन शादी के बाद इसकी हरकतों की वजह से घरवाली घर छोड़ कर चली गई थी। गांव के लोगों ने भी बताया कि आरोपी की हरकतें थोड़ा अजीब थी, लेकिन जिम के लिए गांव से निकलते समय यह सिविल कपड़ों में ही निकलता था और शहर दाखिल होने से पहले कार में ही वर्दी पहनता था।

COMMENT