चंडीगढ़ / रद्दी बनकर पोस्ट ऑफिस से निकली लेटेस्ट डाक पहुंची कबाड़ की दुकान में, पुलिस ने की डीडीआर दर्ज



Latest post reached rag shop for sale, police registered the DDR.
X
Latest post reached rag shop for sale, police registered the DDR.

  • 276 किलो डाक रद‌्दी बताकर 2700 रुपए में कबाड़ी को बेची, इनमें मैग्जीन, धार्मिक किताबें और एलआईसी की चिटि्ठयां

Dainik Bhaskar

Sep 11, 2019, 02:21 PM IST

चंडीगढ़. जो डाक लोगों को भेजी जानी थी, वह पोस्ट ऑफिस से रद‌्दी बनकर बाहर निकली और कबाड़ की दुकान तक पहुंच गई। ऐसा ही एक गंभीर मामला उस समय पकड़ में आया, जब सेक्टर-24 की एक दुकान पर सेक्टर-17 पोस्ट ऑफिस की 'लेटेस्ट डाक' रद‌्दी के रूप में बिकने के लिए आईं।


ये डाक 276 किलो थी, जिसे एक कबाड़ बेचने वाला सेक्टर-17 के जनरल पोस्ट ऑफिस से खरीदकर यहां आगे बेचने के लिए लाया था। उसने ये 276 किलो रद‌्दी 2700 रुपए में खरीदी थी। लेकिन इस रद‌्दी पर किसी की नजर चली गई और ये मामला पकड़ में आया गया।

 

डाक में कई अहम किताबें, मैग्जीन, धार्मिक पत्रिकाएं थी, इनके अलावा एलआईसी की चिटि्ठयां भी थीं। भाजपा की 'कमल सुनेहा' मैग्जिन भी यहां पड़ी थीं। इस बारे में एक मैग्जिन के एडिटर को किसी ने फोन कर दिया तो यह मामला पकड़ में आया।

 

मौके पर लोग इकट्‌ठा हो गए और पोस्ट ऑफिस के अफसरों को फोन कर दिया। पोस्ट ऑफिस के सीनियर सुपरिटेंडेंट मनोज कुमार पहुंचे और उन्होंने जांच के आदेश दिए। उन्होंने रद‌्दी में पकड़ी डाक को कलेक्ट करवा दिया। शिकायत पर पुलिस ने डीडीआर दर्ज कर ली है।


ऐसे पता चला रद‌्दी के बारे में: अमर वचन के एडिटर सतनाम सिंह ने बताया कि उनकी मैग्जिन भी कबाड़ में पड़ी थी। दुकान पर जब किसी की नजर मैग्जिन पर पड़ी तो उसे शक हुआ। उसने मैग्जिन से नंबर लेकर सतनाम को फोन कर दिया। इसके बाद वे मौके पर पहुंचे और उन्होंने दुकान पर रद‌्दी में आई सारी चीजों को बाहर निकलवाया। जब देखा तो उनकी मैग्जिन के अलावा सैकड़ों और मैग्जिनें भी यहां रद‌्दी में बिकने के लिए आई हुई थीं। इसके बाद पुलिस को फोन किया। पुलिस ने रद‌्दी लेकर आए व्यक्ति को पकड़ लिया और उससे पूछताछ की गई।


डाक को हम कभी रद‌्दी में नहीं बेचते: उधर सीनियर सुपरिंटेंडेंट ऑफ पोस्ट ऑफिसेज मनोज कुमार ने बताया कि कई चिटि्ठयां या डाक अगर रिसीव नहीं की जाती तो वे सेंडर को दोबारा भेज दी जाती हैं। अगर वह भी इसे लेने से मना कर दे तो ये वापस पोस्ट ऑफिस में आ जाती हैं। लेकिन ऐसी डाक को हम कभी रद‌्दी में नहीं बेचते। हम जांच करेंगे कि क्या ये सामान वाकई पोस्ट ऑफिस से निकला है। इसमें अगर पोस्ट ऑफिस के इम्प्लाॅई की मिलीभगत होगी तो उस पर कार्रवाई की जाएगी।

 

DBApp

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना