चंडीगढ़ / सफाई यूनियन प्रधान चड्‌ढा को मीटिंग में देख मेयर कालिया ने कहा-'तुम्हें किसने बुलाया, गेट आउट'

Dainik Bhaskar

Jun 14, 2019, 06:43 PM IST



Mayor Rajesh Kalia asked Sanitation workers president Chaddha to get out of the meeting room.
X
Mayor Rajesh Kalia asked Sanitation workers president Chaddha to get out of the meeting room.

  • डोर टू डोर गारबेज कलेक्टर्स के साथ मीटिंग में हुई झड़प
  • बाद में दोनों पक्षों ने पुलिस में दी शिकायत

चंडीगढ़. डोर टू डोर गारबेज कलेक्टर्स के साथ एमसी कॉन्फ्रेंस हाल में वीरवार को मीटिंग में मेयर राजेश कालिया सफाई कर्मचारी यूनियन प्रधान कृष्ण चड्ढा के साथ भिड़ गए। चड्‌ढा से कह दिया 'गेट आउट। तुम्हें किसने बुलाया है यहां? तुम सेनेटरी इंस्पेक्टर्स की मीटिंग बुलाने के लिए कैसे कहते हो। मैं मेयर हूं, इसलिए मीटिंग मैंने लेनी है। तुम एक कर्मचारी हो। अपनी ड्यूटी करो'।

 

इसके बाद मेयर और प्रधान के बीच तू-तू, मैं-मैं हो गई और बात हाथापाई तक पहुंच गई। दोनों को मीटिंग में मौजूद अफसरों ने शांत करवा दिया। चड्‌ढा के आरोप हैं कि मेयर ने मीटिंग से बाहर आकर चैलेंज कर कहा कि 'दम है तो आ, मैं देखता हूं'। मेयर ने चड्ढा की नीलम चौकी इंचार्ज को बुलाकर शिकायत कर दी।
कहा कि प्रधान ने मिसबिहेव किया और मैन हैंडलिंग की है। अगर अफसर बीच-बचाव नहीं करवाते तो चड्ढा उसे पीट भी सकते थे। मेयर ने आरोप लगाया कि चड्ढा उन 625 सफाई कर्मचारियों को फेवर कर रहा है, जो ड्यूटी पर नहीं आते। वहीं, चड्ढा ने भी मेयर के खिलाफ पुलिस चौकी में जाकर शिकायत कर दी।

 

कहा कि कालिया वाल्मीकि समाज विरोधी है। हमने समाज के लिए मेयर बनाया था, लेकिन अब वे सफाई कर्मचारियों की मांगों के बीच में रोड़ा बने हुए हैं। अगर मांगें नहीं मानी गईं तो शुक्रवार से कूड़े की गाड़ियों का चक्का जाम करवा देंगे। सफाई कर्मचारी हड़ताल पर चले जाएंगे और मेयर का घेराव करेंगे।

 

चड्ढा ने पुलिस को दी शिकायत में कहा कि वीरवार को डाेर टू डोर गारबेज कलेक्टर के साथ अफसरों की मीटिंग थी। इसके लिए दो दिन पहले वह और गारबेज कलेक्टर्स सोसायटी के चेयरमैन निगम कमिश्नर केके यादव से मिले थे। उन्होंने कहा था कि सफाई यूनियन प्रधान और सेक्रेटरी भी कलेक्टर्स की मीटिंग में गुरुवार को आ जाएं।

 

बाकायदा मैसेज गया था। मीटिंग में ही एमओएच के समक्ष सफाई कर्मचारियों की झाड़ू, डंडे, बांस, गुड़, साबुन, तेल दिए जाने की मांग उठाई। एमओएच को कहा कि सेनेटरी इंस्पेक्टर के साथ मीटिंग करवा दें। लेकिन मेयर ने मीटिंग में मुझे देखते कहा कि तुम किस हैसियत से सेनेटरी इंस्पेक्टर के साथ मीटिंग करोगे। तुम तो एक कर्मचारी हो। गेट आउट।

 

COMMENT