चंडीगढ़ / पंच तत्वों को सिलेबस का हिस्सा बनाने पर मानव संसाधन मंत्रालय फैसला ले



पंजाब एंड हरियाणा हाई कोर्ट चंडीगढ़ (फाइल फोटो) पंजाब एंड हरियाणा हाई कोर्ट चंडीगढ़ (फाइल फोटो)
X
पंजाब एंड हरियाणा हाई कोर्ट चंडीगढ़ (फाइल फोटो)पंजाब एंड हरियाणा हाई कोर्ट चंडीगढ़ (फाइल फोटो)

  • 27 निवासी रेवंत की तरफ से दाखिल याचिका में कहा गया कि बहुत से देशों ने पंच तत्वों का महत्व समझ कर अपना विकास किया और महाशक्ति बन कर उभरे हैं

Dainik Bhaskar

Nov 09, 2019, 07:05 PM IST

चंडीगढ़(ललित कुमार).पंच तत्वों को स्कूल व कॉलेजों के सिलेबस का हिस्सा बनाए जाने की मांग संबंधी एक जनहित याचिका का निपटारा करते हुए पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट ने इस संबंध में मानव संसाधन मंत्रालय को फैसला लेने के निर्देश दिए हैं।

 

चीफ जस्टिस रवि शंकर झा और जस्टिस राजीव शर्मा की खंडपीठ ने मंत्रालय के सेक्रेटरी को इस संबंध में पहले से ही दी गई रिप्रेजेंटेंशन पर कानून के मुताबिक आठ सप्ताह में फैसला लेने के निर्देश दिए हैं।

 

चंडीगढ़ सेक्टर-27 निवासी रेवंत की तरफ से दाखिल याचिका में कहा गया कि बहुत से देशों ने पंच तत्वों का महत्व समझ कर अपना विकास किया और महाशक्ति बन कर उभरे हैं। भारत में माना जाता है कि शरीर पंच तत्वों से ही बना है। बावजूद इसके यह विषय पढ़ाई का हिस्सा नहीं है।

 

यदि इसे पढ़ाई का हिस्सा बनाया जाए तो देश की उन्नति के लिए नींव तैयार की जा सकती है। इस संबंध में तीन नवंबर 2018 को मानव संसाधन विकास मंत्रालय को रिप्रेजेंटेंशन भी दी गई थी लेकिन एक साल बीत जाने के बाद भी इस पर कोई कार्रवाई नहीं की गई। ऐसे में अब याचिका दायर की गई है। हाईकोर्ट ने रिप्रेजेंटेंशन पर मंत्रालय को आठ सप्ताह में फैसला लेने के निर्देश दिए हैं।

 

DBApp

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना