डबल मर्डर / गर्लफ्रेंड पर था शक, मोबाइल चेक करने घर में घुसा कहासुनी पर दोनों बहनों का कैंची मार किया कत्ल



आरोपी कुलदीप की फाइल फोटो। आरोपी कुलदीप की फाइल फोटो।
मनप्रीत की छोटी बहन राजवंत। मनप्रीत की छोटी बहन राजवंत।
सीसीटीवी में कैद आरोपी कुलदीप वारदात के बाद जाता हुआ सीसीटीवी में कैद आरोपी कुलदीप वारदात के बाद जाता हुआ
X
आरोपी कुलदीप की फाइल फोटो।आरोपी कुलदीप की फाइल फोटो।
मनप्रीत की छोटी बहन राजवंत।मनप्रीत की छोटी बहन राजवंत।
सीसीटीवी में कैद आरोपी कुलदीप वारदात के बाद जाता हुआसीसीटीवी में कैद आरोपी कुलदीप वारदात के बाद जाता हुआ

  • आरोपी पूर्व एसआई का बेटा दिल्ली से अरेस्ट, अबोहर की थीं दोनों बहनें 
  • हैवानियत : दोनों का गला दबाया, फिर कैंची मारी, सिर जमीन पर पटके

Dainik Bhaskar

Aug 17, 2019, 04:03 AM IST

चंडीगढ़. सेक्टर 22 में रहती अबोहर के बल्लूआना की दो सगी बहनों मनप्रीत और राजवंत की हत्या मामले में पुलिस ने जीरकपुर के कुलदीप सिंह (30) को दिल्ली से गिरफ्तार किया है। घटना 14 अगस्त देर रात की है। आरोपी कुलदीप और मनप्रीत में प्रेम संबंध थे। कुलदीप को शक था कि मनप्रीत कौर का किसी और से चक्कर है। वारदात की रात वह दोनों बहनों के घर मनप्रीत का मोबाइल चैक करने गया था। इस दौरान हुई कहासुनी में उसने मनप्रीत के साथ राजवंत का भी कत्ल कर दिया। कुलदीप से पूछताछ में सामने आया है कि उसने पहले दोनों का गला दबाया फिर कैंची से शरीर पर वार किए। गले को दोबारा दुपट्टे से घोंटा। दोनों के सिर को जमीन पर भी पटका।

 

पुलिस कुलदीप को कोर्ट में पेश कर  रिमांड लेगी ताकि उससे वारदात में इस्तेमाल कैंची भी बरामद की जा सके। पुलिस को आरोपी के पास से दो मोबाइल और खून से सने कपड़े मिले हंै। मोबाइल दोनों मृतक बहनों के हैं। आरोपी कुलदीप चंडीगढ़ पुलिस से रिटायर सब इंस्पेक्टर का बेटा है। आरोपी वारदात के बाद घर गया। सुबह बहन से राखी बंधवाकर निकला और बस पकड़ दिल्ली चला गया। दिल्ली स्टेशन पर  रेलवे स्टेशन पर मौजूद था। पुलिस को सूचना मिली तो उसे स्टेशन से दबोच लिया।

 

कॉल सेंटर में काम करते मनप्रीत और कुलदीप मिले थे

दोनों बहनें मनप्रीत और राजवंत कई साल पहले अबोहर से चंडीगढ़ आई थीं और एक कॉल सेंटर में काम करती थीं। इस दौरान उनकी मुलाकात कुलदीप से हो गई। कुलदीप और मनप्रीत के बीच में दोस्ती गहरी हुई जिसके बाद वह प्यार में बदल गई। दोनों का एक दूसरे के घर आना जाना था। जिसके बाद उनके घरवालों में भी शादी की बात हुई और शादी पक्की कर दी गई थी।  पिछले करीब 6 महीने से कुलदीप को शक था कि मनप्रीत किसी अन्य लड़के के साथ बातें करती है। दोनों के बीच शादी तक बात पहुंच चुकी है। मनप्रीत लगातार कुलदीप को इग्नोर कर रही थी। कुछ दिन पहले सावन के महीने में दोनों बहनों ने लंगर लगाया था। जिसमें कुलदीप को नहीं बुलाया गया। उसे यह बात भी खटक रही थी। इन दिनों दोनों बहनें जीरकपुर में इकनूर नाम का केमिकल सप्लाई करती थीं जबकि आरोपी कॉल सेंटर में नौकरी कर रहा था। 
 

दीवार फांद घर में घुसा था, चेक कर रहा था, किस लड़के से फोन पर बात करती है

आरोपी देर रात दोनों बहनों के कमरे में गया। वह पीछे के रास्ते से घर में दाखिल हुआ था। उसका मकसद घर में मनप्रीत का फोन चेक करना था ताकि उसे क्लियर हो सके कि वह लड़का कौन है  जिससे मनप्रीत बात करती है। फोन चैक करने के दौरान पहले छोटी बहन राजवंत उठी तो कुलदीप कमरे में छिप गया था। इसके बाद वह फिर फोन चेक करने लगा तो मनप्रीत उठ गई। दोनों में बहस हुई तो कुलदीप ने मनप्रीत का गला दबा दिया। इतने में छोटी बहन आई तो उसने दोनों का गला दबा दिया। कुलदीप पहले भी घर आता था तो उसने कैंची उठाई और दोनों पर कई वार कर दिए। वारदात के बाद काफी समय कुलदीप वहीं रहा। इसके बाद भागते हुए उसकी सीसीटीवी में कैद फुटेज पुलिस ने निकलवा ली है।
 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना