--Advertisement--

श्रद्धांजलि / मनाली पहुंचा अटल जी का अस्थिकलश, कल ब्यास नदी में किया जाएगा विसर्जित



namita-bhattacharya-reached-manali-with-ati-ji-bones
X
namita-bhattacharya-reached-manali-with-ati-ji-bones

Dainik Bhaskar

Sep 26, 2018, 08:23 PM IST

कुल्लू। भारत रत्न स्व. अटल बिहारी वाजपेयी जी की दत्तक बेटी नमिता भट्टाचार्य मनाली पहुंच गई हैं। एसपीजी के कड़े सुरक्षा घेरे में नमिता, उनके पति रंजन भट्टाचार्य और परिवार के अन्य सदस्य भुंतर स्थित हवाई अड्डे पर पहुंचने के बाद सड़क मार्ग से मनाली के प्रीणी गांव पहुंचे। अटल बिहारी वाजपेयी के अस्थिकलश को मनाली में विसर्जित किया जाएगा।

 

गुरुवार सुबह मनाली पहुंचेंगे मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर
मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर वीरवार सुबह मनाली पहुंचेंगे। इस दौरान वन मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर, अन्य मंत्री व भाजपा कार्यकर्ता साथ रहेंगे। इसके बाद अटल जी के अस्थि कलश को मनाली के बाहंग में ब्यास नदी में विसर्जित किया जाएगा। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर गुरुवार को ही अस्थि विसर्जन के बाद वापस लौटेंगे जबकि नमिता भट्टाचार्य व परिवार के अन्य लोग शुक्रवार को मनाली से दिल्ली लौटेंगे। मनाली के एसडीएम रमन घरसंगी ने कहा कि नमिता भट्टाचार्य परिवार के अन्य लोगों के साथ मनाली पहुंच गई हैं।

 

अटल जी का दूसरा घर था मनाली
कहा जाता है कि मनाली के प्रीणी में अटल जी का घर है। इसे वह अपना दूसरा घर मानते थे। वह यहां अक्सर आते थे। मनाली प्रवास के दौरान उन्होंने कई कविताएं भी लिखीं थीं। अब मनाली में उनकी अस्थियां ब्यास नदी में विसर्जित की जाएंगी। भुंतर में प्रशासन की ओर से नमिता भट्टाचार्य को रिसीव किया गया और उसके बाद उन्हें मनाली ले जाया गया। मनाली में भी अधिकारियों ने उन्हें रिसीव किया और उनके घर प्रीणी तक ले जाया गया।

Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..