ठेका / निगम नहीं, अब प्राइवेट ठेकेदार पकड़ेगा लावारिस पशु



लावारिस गाय। लावारिस गाय।
X
लावारिस गाय।लावारिस गाय।

  • समाधान जयपुर की कंपनी को दिया स्ट्रे कैटल्स पकड़ने का ठेका, एक मवेशी पकड़ने पर 1500 रुपए दिए जाएंगे

Dainik Bhaskar

Oct 12, 2019, 06:03 AM IST

मोहाली. शहर में लावारिस मवेशियों को पकड़ने के लिए भले ही लंबे समय से राजनीति हो रही थी और कैटल कैचर टीम पर सवाल उठ रहे थे। लेकिन नगर निगम मेयर कुलवंत सिंह ने इस राजनीति को खत्म करते हुए शहर में मवेशियों को पकड़ने के लिए जयपुर की राजवीर एसोसिएट्स कंपनी को ठेका दिया है। निगम सूत्रों के अनुसार इस कंपनी को 3 महीने के लिए ट्रायल पर काम दिया गया है।

 

अगले सप्ताह से काम शुरू हो जाएगा। शुक्रवार ठेकेदार को काम अलॉट करने के लिए जो प्रक्रिया थी वो पूरी कर ली गई है। नगर निगम मेयर कुलवंत सिंह की मानें तो बाहरी कंपनी को कैटल कैचर का काम देने से शहर की बहुत बड़ी समस्या हल हो जाएगी। जो मवेशी पकड़े जाएंगे उनके लिए गौशाला या फिर कोई नया कैटल पाउंड बनाया जाएगा। जिसको लेकर जमीन भी देखी जा रही है। नगर निगम की ओर से कंपनी को एक मवेशी पकड़ने पर 1500 रुपए दिए जाएंगे। इस काम के लिए कंपनी को कोई भी वाहन मुहैया नहीं करवाया जाएगा।


गुजरात, गुडगांव में भी यही कंपनी कर रही काम
जिस कंपनी को मवेशी पकड़ने का काम दिया गया है वो हरियाणा के गुडगांव, राजस्थान के जयपुर और गुजरात के गांधीनगर सहित 9 नगर पालिकाओं में कैटल कैचर का काम करते हैं। इसलिए नगर निगम मेयर कुलवंत सिंह ने इस कंपनी को शहर के लिए चुना है। उनके द्वारा किए गए कामों से संबंधित वीडियो व वर्क से संबंधित अनेक तरह के दस्तावेज देखने के बाद यह काम दिया गया है।


विवादों में रही है निगम की कैटल कैचर टीम
निगम की कैटल कैचर टीम शुरू से ही विवादों में रही है। हाउस ही हर मीटिंग में इस टीम की कार्यप्रणाली को लेकर सवाल उठते रहे हैं कि टीम के सदस्य ही मवेशी छोड़ देते हैं। इस टीम में कुछ ऐसे सदस्य भी हैं जिनके अपने पशु हैं। हाउस मीटिंग में यहां तक कहा गया कि नगर निगम के कर्मचारी खुद काम करें।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना