सरपंच मर्डर केस / एसएसपी यूटी के रीडर को नोटिस, लापरवाही बरतने पर कोर्ट ने की सख्ती

एसएसपी यूटी के रीडर को जारी हुआ नोटिस। डेमो फोटो एसएसपी यूटी के रीडर को जारी हुआ नोटिस। डेमो फोटो
X
एसएसपी यूटी के रीडर को जारी हुआ नोटिस। डेमो फोटोएसएसपी यूटी के रीडर को जारी हुआ नोटिस। डेमो फोटो

  • अगली तारीख पर एसएसपी यूटी के रीडर को कोर्ट में पेश होने का आदेश
  • कोर्ट ने मर्डर केस में दो गवाहों के सही एड्रेस देने के लिए दी थी जिम्मेदारी

दैनिक भास्कर

Dec 03, 2019, 11:54 AM IST

चंडीगढ़. शहर के चर्चित सरपंच मर्डर केस की अगली तारीख पर कोर्ट ने एसएसपी यूटी के रीडर को कोर्ट में पेश होने के लिए नोटिस जारी कर दिया है।

इस केस में दो गवाहों के सही पते नहीं दिए गए थे। इसके लिए पिछली तारीख पर काेर्ट ने एसएसपी यूटी को जिम्मेदारी दी। लेकिन, एसएसपी यूटी ऑफिस की तरफ से कोई कार्रवाई नहीं की गई। इस पर सोमवार को जज ने सख्ती दिखाते हुए एसएसपी यूटी के रीडर को नोटिस जारी कर दिया है।

कोर्ट ने पहले तो केस के आईओ को कहा था कि वे गवाहों के सही पते कोर्ट को लाकर दें ताकि उन्हें गवाही के लिए समन भेजे जा सकें। लेकिन आईओ ने भी कोर्ट के आदेशों को नजरअंदाज कर दिया था। ऐसे में जज ने एसएसपी यूटी को नोटिस जारी कर दिया था। लेकिन सोमवार को इस केस की सुनवाई थी। दो गवाहों हरमिंदर सिंह और जतिंदर सिंह के सही पते इस बार भी कोर्ट तक नहीं पहुंचे। लिहाजा, जज ने अपने ऑर्डर में लिखा कि एसएसपी ऑफिस ने इस संबंध में कोई एक्शन नहीं लिया। कोर्ट ने कहा कि रीडर को अगली तारीख पर पेश होकर बताना पड़ेगा कि उन्होंने कोर्ट के आदेशों पर कोई एक्शन लिया या नहीं?

कई बार भेजे जा चुके हैं समन
सतनाम की अप्रैल 2017 में हत्या हुई थी। इसके लगभग दो साल बाद केस का ट्रायल शुरू हो सका है। फिर भी किसी न किसी वजह से केस के ट्रायल में देरी हो रही है। केस में मुख्य आरोपी दिलप्रीत बाबा और हरजिंदर सिंह को चंडीगढ़ पुलिस कोर्ट में पेश ही नहीं कर पा रही है। जबकि कई बार कोर्ट की ओर से उन्हें पेश करने के लिए समन भेजे जा चुके हैं। दिलप्रीत को सोमवार को किसी और केस के चलते मोहाली कोर्ट में पेश किया गया जबकि हरजिंदर सिंह औरंगाबाद, महाराष्ट्र की हर्षुल जेल में बंद है।

सेक्टर-38 वेस्ट के गुरुद्वारे के बाहर किया था मर्डर
दो साल पहले पंजाब के होशियारपुर जिले के गांव खुर्दा के सरपंच सतनाम सिंह की सेक्टर-38वेस्ट के गुरुद्वारे के बाहर सरेआम गोलियां मारकर हत्या कर दी गई थी। वह यहां संगत लेकर आया था। इस केस में पुलिस ने मंजीत सिंह बॉबी, हरजिंदर सिंह वाला और दिलप्रीत सिंह ढाहां उर्फ बाबा को गिरफ्तार किया था। इन तीनों के खिलाफ एडिशनल डिस्ट्रिक्ट एंड सेशंस जज राजीव गोयल की कोर्ट में मर्डर का ट्रायल चल रहा है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना