पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

फाइनेंसर सुरजीत मर्डर केस पुलिस के हाथ नहीं लग पाया कोई सुराग

5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सीसीटीवी फुटेज में तेजी से जाती हुई बाइक
  • जिस बाइक पर आए थे हत्यारोपी, वह सीसीटीवी में कैद, पहचान नहीं
  • फुटेज में फाइनेंसर के हत्यारोपी तो दूर, बाइक तक भी साफ नजर नहीं आ रही

चंडीगढ़. फाइनेंसर सुरजीत के कत्ल के बाद जो पोस्ट फेसबुक पर शेयर की गई थी, उसमें कत्ल करवाने में जिस लक्की का जिक्र किया गया है, वह खुड्डा लाहौरा का रहने वाला है। इस समय वह रोमानिया जेल में कैद है। इस लक्की ने ही दिलप्रीत बाबा के कहने पर परमीश वर्मा पर गोलियां चलाई थीं।


हालांकि, यह साफ नहीं है कि उसने कब और कैसे गोलीकांड की साजिश रची थी। लक्की मीत का करीबी था। वहीं, सीसीटीवी फुटेज से बाइक की कोई पहचान नहीं हो पा रही है। दरअसल, जिस जगह पर गोलियां चलाई गई है, वहां पर कोई कैमरा एरिया कवर नहीं कर रहा है।

उसी गली में पीछे की तरफ एक घर में सीसीटीवी कैमरे लगे हुए हैं, जिसमें बाइक तेजी से जाती हुई दिखाई दे रही है। लेकिन यह नहीं दिख रहा है कि कातिल दो बैठे हैं या तीन। न ही बाइक की मेक और नंबर नोट हो पा रहा है।


फिलहाल पुलिस पोस्ट के आधार पर लक्की पर ही शक जाहिर कर रही है कि उसने इस कत्ल की साजिश रची है। पुलिस ने इस मामले में सुरजीत की पत्नी मीनाक्षी के बयान पर कत्ल और आर्म्स एक्ट के तहत केस दर्ज कर लिया है।


मंगलवार को डॉक्टरों के बोर्ड और फॉरेंसिक टीम की अगुवाई में शव का पोस्टमाॅर्टम करवाया गया। पुलिस ने वारदात के बाद जांच शुरू की। सुरजीत के पूरे रूट को चेक किया गया। लेकिन जिस-जिस जगह पर सीसीटीवी कैमरे मौजूद थे वहां पर कोई भी बाइक उसके आसपास नहीं थी। न ही उसके बाद या पहले गुजरी है। जिससे साफ हो रहा है कि आरोपियों ने पहले रूट तैयार किया फिर वारदात को अंजाम दिया।


पहले सुरजीत की रेकी भी की थी। अब पुलिस सेक्टर-22 मार्केट में लगे हुए सीसीटीवी कैमरों की फुटेज चेक कर रही है ताकि साफ हो सके कि कौन लोग लगातार सुरजीत की दुकान की तरफ नजर रखते थे। घटना के समय चौक पर लगे हुए रेड लाइट पॉइंट पर सुरजीत रुका हुआ था। वहां से मात्र एक किलोमीटर दूर उसका सेक्टर-38 वेस्ट में घर था। इसी दौरान उस पर गोलियां चलाई गई हैं।

कत्ल से 10 मिनट पहले हुई थी पत्नी से बात
सुरजीत के परिवार में एक बेटा 14 साल का जतिन और उसकी मां मीनाक्षी है। जतिन दसवीं क्लास में पढ़ता है जबकि मीनाक्षी घर पर ही रहती है। उनके दो भाई है जो कि अलग रहते हैं। सुरजीत के माता पिता नयागांव में रहते हैं। अपने परिवार का सुरजीत अकेला कमानेवाला था। इस घटना से मात्र 10 मिनट पहले सुरजीत ने अपनी पत्नी से बात की। पत्नी ने पूछा कि वह घर कब तक आ रहे हैं। इस पर सुरजीत ने बताया कि वह घर पहुंच चुका है। लेकिन उससे पहले ही सुरजीत को गोलियां मार दी गई। सुरजीत रास्ते में एक जगह रुका था और पुलिस ने रुकने वाले शख्स को वेरिफाई कर लिया है। उसमें कोई भी फाउल प्ले नहीं लग रहा है।

अखिल से कर सकती है पूछताछ
सेक्टर 26 जिम में मीत पर हुए हमले में अखिल घायल हो गया था। पुलिस अब इस मामले में बाउंसर अखिल से भी पूछताछ कर सकती है। इसके लिए जल्द ही उसे पुलिस स्टेशन बुलाया जाया जा सकता है। वहीं दिनभर क्राइम ब्रांच और थाना पुलिस की टीमें शहर में घूमती रही लेकिन उनके हाथ कोई सुराग नहीं लगा है।

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- धार्मिक संस्थाओं में सेवा संबंधी कार्यों में आपका महत्वपूर्ण योगदान रहेगा। कहीं से मन मुताबिक पेमेंट आने से राहत महसूस होगी। सामाजिक दायरा बढ़ेगा और कई प्रकार की गतिविधियों में आज व्यस्तता बनी...

और पढ़ें