हिमाचल / दुनियां के सबसे ऊंचे पोलिंग स्टेशन टशीगंग सहित सभी मतदान केंद्रों पर पहुंचे मतदान अधिकारी



दुनिया में बना सबसे ऊंचा पोलिंग स्टेशन: टशिगंग दुनिया में बना सबसे ऊंचा पोलिंग स्टेशन: टशिगंग
12 हजार 256 फीट की ऊंचाई पर स्थित है ये पोलिंग स्टेशन 12 हजार 256 फीट की ऊंचाई पर स्थित है ये पोलिंग स्टेशन
पारंपरिक वेशभूषाओं में वोट डालने पहुंचे वोटर्स पारंपरिक वेशभूषाओं में वोट डालने पहुंचे वोटर्स
वोट के लिए कतार में लगे वोटर्स वोट के लिए कतार में लगे वोटर्स
X
दुनिया में बना सबसे ऊंचा पोलिंग स्टेशन: टशिगंगदुनिया में बना सबसे ऊंचा पोलिंग स्टेशन: टशिगंग
12 हजार 256 फीट की ऊंचाई पर स्थित है ये पोलिंग स्टेशन12 हजार 256 फीट की ऊंचाई पर स्थित है ये पोलिंग स्टेशन
पारंपरिक वेशभूषाओं में वोट डालने पहुंचे वोटर्सपारंपरिक वेशभूषाओं में वोट डालने पहुंचे वोटर्स
वोट के लिए कतार में लगे वोटर्सवोट के लिए कतार में लगे वोटर्स

  • मतदान के लिए लाहौल-स्पीति में सभी तैयारियां मुकम्मल: अश्वनी
  • क्यूलिंग और जिस्पा मतदान केंद्रों को महिलाऐं संचालित करेंगी

Dainik Bhaskar

May 18, 2019, 10:48 AM IST

कुल्लू. लाहौल-स्पीति में दुनिया के सबसे ऊंचे मतदान केंद्र पर पोलिंग पार्टियां पहुंच चुकी है। लाहौल-स्पीति के टशीगंग में 15256 फीट उंचे स्थान पर पोलिंग स्टेशन बनाया गया है। चीन की सीमा से मात्र 25 किलोमीटर दूर हिमालय की चोटियाें के बीच बसे इस जनजातीय क्षेत्र चारों तरफ से बर्फ से ढके पहाड़ों से सुशोभित है। यहां पर कल आम चुनाव के लिए मतदान होगा। इस स्थान पर सभी पोलिंग पार्टियां बूथ पर पहुंच चुकी हैं। यहां मौसम खराब होने के बावजूद अधिकारी काम में जुटे हुए हैं। टशीगंग समेत सभी 94 मतदान केंद्रों में चुनाव सम्पन करवाने के लिए 376 पोलिंग स्टाफ और 188 पुलिस, होमगार्ड तथा केंद्रीय पुलिस बल के जवान तैनात किए गए हैं।

 

जिला निर्वाचन अधिकारी और उपायुक्त लाहौल-स्पीति अश्वनी चौधरी ने बताया कि एचआरटीसी की बसों और अन्य छोटे वाहनों में सभी पोलिंग पार्टियों को मतदान केंद्रों पर पहुंचाया गया है। मतदान के लिए जिला के संवेदनशील केंद्रों में 4 सेक्टर मजिस्ट्रेट, 15 माईक्रो आब्जर्वर और 14 सेक्टर ऑफिसर तैनात किए गए हैं। उन्होंने बताया कि लाहौल-स्पीति विधान सभा क्षेत्र में क्यूलिंग और जिस्पा मतदान केंद्रों को पूरी तरह महिलाओं द्वारा संचालित मतदान केंद्र बनाया गया है जबकि स्पीति घाटी के टशीगंग और लाहौल घाटी के जाहलमा मतदान केंद्र को माॅडल मतदान केंद्र बनाया गया है।

 

उन्होंने कहा कि जिला के नैनगाहर और खंजर मतदान केंद्र को छोड़कर सभी मतदान केंद्रों को जोड़ने वाली सड़कों से बर्फ हटाकर सड़क मार्ग से जोड़ दिया गया है। उन्होंने बताया कि नैनगाहर और खंजर मतदान केंद्र के लिए भी पोलिंग पाट्रियों और मतदान सामग्री पहुंचाने के लिए वैकल्पिक व्यवस्था की गई है और लोक निर्माण विभाग की मशीनरी तथा लेबर को मतदान दिवस पर पोलिंग पार्टियों  के आने तक रास्ते में नालों और ग्लेशियर आने वाले स्थानों पर तैनात किया गया है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना