झटका / उम्रकैद की सजा काट रहे राम रहीम की पैरोल अर्जी खारिज, पत्नी को हाईकोर्ट ने लगाई फटकार



गुरमीत राम रहीम। (फाइल) गुरमीत राम रहीम। (फाइल)
X
गुरमीत राम रहीम। (फाइल)गुरमीत राम रहीम। (फाइल)

  • पत्नी हरजीत कौर ने लगाई थी पैरोल देने की याचिका, मां की बीमारी का दिया था हवाला
  • हाईकोर्ट ने कहा- आप लोगों का इतना बड़ा अस्पताल है, वहां पर मां का इलाज करवाओ

Dainik Bhaskar

Aug 27, 2019, 06:22 PM IST

चंडीगढ़/पानीपत. साध्वी यौन शोषण मामले में उम्रकैद की सजा काट रहे डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम की पैरोल अर्जी अब हाईकोर्ट ने भी खारिज कर दी। इससे पहले यह अर्जी सुनारिया जेल सुपरिटेंडेंट खारिज कर चुके हैं। पैरोल की अर्जी पत्नी ने दाखिल की थी। हाईकोर्ट ने मंगलवार को फटकार लगाते हुए कहा कि पत्नी किस हैसियत से याचिका दाखिल कर रही है जबकि राम रहीम ने खुद याचिका दाखिल क्यों नहीं की? 

कोर्ट ने कहा- मां का इलाज करवाओ बाकी परिवार तो साथ ही है

  1. राम रहीम की पत्नी हरजीत कौर ने उसकी मां की तबीयत खराब होने का हवाला देते हुए पैरोल अर्जी लगाई थी। इस पर हाईकोर्ट ने कहा कि आप लोगों का इतना बड़ा अस्पताल है, वहां पर मां का इलाज करवाओ, बाकी परिवार तो साथ ही है।

  2. हाईकोर्ट ने जेल प्रशासन को दिया था पैरोल पर फैसला लेने का अधिकार

    डेरा प्रमुख की मां नसीब कौर 85 साल की हैं। याचिका में बताया गया कि नसीब कौर को पिछले दिनों हृदयघात हुआ था। उनकी एंजियोग्राफी होनी है और वे चाहती हैं कि इस टेस्ट के दौरान उनका बेटा साथ में मौजूद रहे।

  3. हरजीत कौर ने पैरोल में जेल में बंद पति गुरमीत राम रहीम के अच्छे आचरण का भी हवाला दिया था। हाईकोर्ट ने जेल सुपरिटेंडेंट (रोहतक) को आदेश दिया कि वह जेल विभाग द्वारा जारी 2014 के नियमों के तहत अच्छे आचरण के तहत राम रहीम को पैरोल देने पर विचार करें। अगर वह इस पर विचार करने में अक्षम है तो अपने उच्च अधिकारियों को यह मांग पत्र भेजे और पांच दिन के अंदर निर्णय लें। 

  4. नसीब कौर की जांच में डॉक्टरों की रिपोर्ट

    जेल सुपरिटेंडेंट ने सिरसा डीसी को राम रहीम की मां नसीब कौर की मेडिकल जांच करवाने के लिए कहा था। चार डॉक्टर की टीम ने नसीब कौर के स्वास्थ्य की जांच की थी। रिपोर्ट में बताया गया है कि नसीब कौर को हार्ट की बीमारी है, मगर वह गंभीर नहीं है। नसीब कौर का ख्याल रखने वालों की अस्पताल में कोई कमी नहीं है। डेरा प्रमुख की मां 85 साल की हैं। उनकी देखभाल और सेवा ठीक ठाक हो रही है। इस मेडिकल रिपोर्ट को रोहतक भेजा गया। इसी पर जेल सुपरिटेंडेंट ने पैरोल न देने का फैसला लिया। 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना