चंडीगढ़ / चुनाव में सुरक्षा के लिए पंजाब, हरियाणा, राजस्थान पुलिस वॉट्सएप ग्रुप से जुड़ेगी, तस्करी रोकने को लगाएंगे नाके

Dainik Bhaskar

Mar 26, 2019, 06:12 AM IST



Punjab, Haryana and Rajasthan police will be associated with Whatsapp group for security in elections
X
Punjab, Haryana and Rajasthan police will be associated with Whatsapp group for security in elections
  • comment

  • तीन राज्यों के 9 जिलों के डीसी-एसएसपी ने की सिरसा में की मीटिंग, सुरक्षा व्यवस्था पर चर्चा
  • बॉर्डर एरिया पर इंटरस्टेट नाके लगाकर संदिग्धों पर रखी जाएगी पैनी नजर

चंडीगढ़. पंजाब में लोकसभा चुनाव के दौरान बॉर्डर एरिया पर सुरक्षा व्यवस्था कड़ी करने के लिए सोमवार को 3 राज्यों के पुलिस एवं प्रशासनिक अधिकारियों ने मीटिंग की। मीटिंग में निर्णय लिया गया कि सुरक्षा व्यवस्था को चुस्त-दुरुस्त रखने के लिए तीनों राज्यों के अधिकारी एक-दूसरे के संपर्क में रहेंगे। क्योंकि चुनाव के दौरान सीमा पार से ही तस्करी एवं अन्य घटनाओं को अंजाम देने की कोशिश की जा सकती है। ऐसे में पुलिस एवं सिविल प्रशासन इससे निपटने के लिए तैयारी कर चुका है।

 

इसको लेकर पंजाब, हरियाणा और राजस्थान के बॉर्डर एरिया के 9 जिलों के डीसी और एसएसपी ने कई महत्वपूर्ण बिंदुओं पर चर्चा की। तीनों राज्यों की पुलिस एवं सिविल प्रशासन का मानना है कि चुनाव के दिनों में ऐसी घटनाएं को रोकने के लिए पुलिस का सतर्क रहना जरूरी है। सूबे की सीमाएं हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल, जम्मू-कश्मीर, चंडीगढ़ एवं पाकिस्तान से सटी हुई हैं।

 

एक-दूसरे से तालमेल कर आरोपियों के खिलाफ एक्शन लेंगे :
चुनाव के दौरान बॉर्डर एरिया से असामाजिक तत्व अपनी सरगर्मी बढ़ा देते हैं। बैठक में तय किया गया कि तीनों राज्यों के अधिकारी एक-दूसरे के संपर्क में रहकर आपसी तालमेल बनाए रखेंगे, ताकि जरूरत पड़ने पर पुलिस एक्शन ले सके और आरोपियों को दबोचा जा सके।

 

अपराधियों का डाटा करेंगे शेयर :
तीनों राज्यों के अधिकारियों का एक वॉट्सएप ग्रुप बनाया जाएगा। इसमें बॉर्डर एरिया के 3 राज्यों के अधिकारी शामिल होंगे। यह अधिकारी अपने इलाकों के अपराधियों और तस्करों का डाटा एक-दूसरे से शेयर करेंगे। इसकी मदद से दूसरे राज्य के किसी भी संदिग्ध अपराधी को आसानी से पकड़ा जा सकेगा।

 

नाकों की मदद से तेज होगी धरपकड़ :
बॉर्डर से होने वाली तस्करी रोकने के लिए पैनी नजर रखने एवं उनकी धरपकड़ के लिए इंटरस्टेट नाके भी लगाए जाएंगे। इसके साथ ही ऐसे इंटरस्टेट नाकों की मदद से हर आने-जाने वाले संदिग्धों की चेकिंग की जाएगी। पंजाब के लिए इंटरस्टेट नाके अहम है क्योंकि सूबे की सीमा दूसरे राज्यों के साथ-साथ इंटरनेशनल बॉर्डर पाकिस्तान से भी लगती है।

COMMENT
Astrology
Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन