चंडीगढ़ / डीसी मोहाली ने किसी भी तरह की रैली या प्रदर्शन पर रोक लगाई, पंजाब-चंडीगढ़ सीमा पर लगाई धारा-144

डेमो फोटो डेमो फोटो
X
डेमो फोटोडेमो फोटो

  • हाईकोर्ट ने कहा है कि प्रदर्शन के दौरान जानमाल की हानि नहीं होनी चाहिए
  • किसान जत्थेबंदियों की ओर से मोहाली के रास्ते चंडीगढ़ में प्रवेश किया जाता है

दैनिक भास्कर

Sep 14, 2019, 04:15 PM IST

मोहाली. पंजाब की जत्थेबंदियों की ओर से कश्मीरी लोगों के संघर्ष का समर्थन करने के लिए निकाली जाने वाली रैली या प्रदर्शन पर पूरी तरह से रोक लगा दी गई है। पिछले दिनों कुछ लोगों ने डीसी मोहाली गिरीश दयालन के पास रैली करने के लिए दशहरा ग्राउंड फेज 8 से चंडीगढ़ की सीमा तक जाने की आज्ञा मांगी थी।

 

डीसी ने कहा कि सुरक्षा कारणों को लेकर यह अनुमति नहीं दी जा सकती है। डीसी मोहाली दयालन ने कहा कि प्रशासन की ओर से इस प्रदर्शन को सर्वोच्य न्यायालय के दिशानिर्देशों और पंजाब सरकार की सलाह पर रोका गया है।

 

उन्होंने कहा कि विभागों से मिली रिपोर्ट में यह कहा गया है कि इतने बड़े प्रदर्शन में सुरक्षा कारणों के कारणों यह अनुमति नहीं दी जा सकती। उन्होंने कहा कि एसएसपी मोहाली कुलदीप चहल ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि जुलूस, रैली के दौरान शांति भंग हो सकती है। उन्होंने कहा कि रैली के दौरान यातायात की व्यवस्था खराब हो सकती है।

 

डीसी ने कहा कि मोहाली नगर निगम कमिशनर की ओर से दी गई रिपोर्ट में कहा गया है कि रैली के दौरान घनी आबादी वाले आवासीय क्षेत्र है। जिससे परेशानी हो सकती है। एसडीएम मोहाली के अनुसार रैली के दौरान न लाउडस्पीकर बजाने की अनुमति दी गई है और न ही कोई स्थान दिया गया है।

 

पंजाब और हरियाणा हाई कोर्ट ने निर्देश दिया था कि कानून और व्यवस्था की स्थिति खराब नहीं होनी चाहिए। किसी भी सार्वजनिक संपत्ति को कोई नुकसान न हो और न ही किसी प्रकार की कोई जानमाल की हानि हो।

 

जिला प्रशासन ने सार्वजनिक आदेश को बनाए रखने और मानव जीवन की सुरक्षा सुनिश्चित करने के मद्देनजर 11 सितंबर से धारा-144 लगा दी है।

पंजाब सरकार की ओर से हाईकोर्ट को आश्वासन दिया गया है कि किसानों के प्रदर्शन को देखते हुए किसी भी तरह की नरमी नहीं बरती जाएगी।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना