अनोखी पहल / सिखों की पहचान बारे जागरूकता के लिए सिख मोटरसाइकिल चालकों ने की 22 देशों की यात्रा



Sikh motorcyclists’ ride across 22 countries to spread awareness about the Sikh identity.
X
Sikh motorcyclists’ ride across 22 countries to spread awareness about the Sikh identity.

  • सिख मोटर साइकिल क्लब कनाडा के सदस्यों ने खालसा ऐड के सहयोग से अनोखी यात्रा
  • धन जुटाने, भाईचारे का संदेश देने और नशा मुक्त पंजाब के लिए की पूरे महाद्वीप की यात्रा

Dainik Bhaskar

May 17, 2019, 03:16 PM IST

चंडीगढ़. सिख मोटर साइकिल क्लब (बीसी) कनाडा के छह सिख मोटरसाइकिल चालकों ने सफलतापूर्वक विश्व भ्रमण कर चुके हैं। उन्होंने यह महत्वाकांक्षी यात्रा कनाडा से पंजाब तक पूरी की, जिस दौरान वे 22 देशों से होकर गुजरे।

 

इस उपलब्धि के कारण बीसी क्लब का नाम लंदन बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में दर्ज हो चुका है। समूह के मुताबिक गुरु नानक देव जी की 550वीं जयंती के उपलक्ष्य में आयोजित इस यात्रा का संदेश संपूर्ण मानव जाति को एक के रूप में मान्यता देना था, जो कि गुरु साहिब का मुख्य उपदेश है। 

 

चंडीगढ़ पहुंचे क्लब के सदस्यों ने चंडीगढ़ प्रेस क्लब में मीडिया से बातचीत में बताया कि उन्हें काफी मशक्कत के बाद कानूनी मंजूरी मिली। इसके बाद पहले कनाडा और यूएसए को सडक़ मार्ग से पार किया। फिर  इंग्लैंड के लिए उड़ान भरी। यहां से, बाइकर्स ने 40 दिनों से भी कम समय में भारत (पंजाब) तक पहुंचने के उद्देश्य से सड़क पर यात्रा की।

 

3 अप्रैल को शुरू हुई यात्रा का समापन 11 मई को पंजाब में हुआ। बता दें कि तुर्की में प्रवेश करने से पहले यात्रा पूरे यूरोप के देशों और शहरों में गई। इसके बाद ईरान में एंट्री ली और पाकिस्तान में प्रवेश कर गए। पाकिस्तान में गुरु नानक देव की जन्मभूमि ननकाना साहिब गए।

 

फिर वाघा बॉर्डर से सीमा पार कर  स्वर्ण मंदिर, अमृतसर में दौरे का अंतर्राष्ट्रीय पड़ाव पूरा किया। अमृतसर से यात्रा के पंजाब सेगमेंट की शुरुआत की। गोइंदवाल साहिब और खडूर साहिब होते हुए सुल्तानपुर लोधी गए। खडूर साहिब से सुल्तानपुर लोधी की यात्रा अनोखी थी। गुरु नानक देव की 550 वीं वर्षगांठ को ध्यान में रखते हुए पंजाब में 550 से अधिक मोटरसाइकिल चालकों ने भी इस यात्रा में भाग लिया।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना