पंजाब / सुखबीर बादल ने कहा- 1984 में कोर्ट मार्शल किए गए 309 सिख जवानों को भूतपूर्व सैनिक का दर्जा दिया जाए



सुखबीर सिंह बादल। फाइल फोटो सुखबीर सिंह बादल। फाइल फोटो
X
सुखबीर सिंह बादल। फाइल फोटोसुखबीर सिंह बादल। फाइल फोटो

  • पंजाब के पूर्व उपमुख्यमंत्री सुखबीर बादल ने प्रधानमंत्री मोदी को पत्र लिखकर यह अपील की है
  • उन्होंने कहा- जून 1984 में इन सैनिकों ने आहत होकर बैरक छोड़ दी थी, बाद में इनका कोर्ट मार्शल किया गया था

Dainik Bhaskar

Nov 01, 2019, 04:51 PM IST

चंडीगढ़. पंजाब के पूर्व उपमुख्यमंत्री और शिरोमणि अकाली दल के प्रमुख सुखबीर सिंह बादल ने 1984 में सेना से कोर्ट मार्शल किए गए 309 सिख सैनिकों का मुद्दा उठाया है। उन्होंने इस संबंध में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा है। इसमें उस दौरान कोर्ट मार्शल किए गए 309 सैनिकों पर से सभी आरोप वापस लेने की अपील की है। बादल ने इन सैनिकों को भूतपूर्व सैनिक का दर्जा देने और उसी के अनुरूप सुविधाएं देने की मांग भी की है। 
 
बादल ने पत्र में लिखा- मैं 35 साल पहले सिख समुदाय पर हुए अन्‍याय की ओर आपका ध्‍यान दिलाना चाहता हूं। 1 नवंबर 1984 को सत्‍ताधारी पार्टी कांग्रेस ने सिखों का नरसंहार कराया। इसमें दिल्‍ली सहित पूरे देश में 10 हजार से ज्‍यादा सिखों की हत्‍याएं हुईं। दोषी आज भी घूम रहे हैं। पीड़ित परिवार इंसाफ का इंतजार कर रहे हैं।

 

उन्होंने पत्र में आगे लिखा- जून 1984 में तत्‍कालीन पीएम इंदिरा गांधी ने श्री अकाल तख्‍त साहिब और श्री दरबार साहिब पर भारी हथियारों के साथ कार्रवाई का आदेश दिया था। इस हमले के बारे में सुनने के बाद आहत होकर 309 सिख सैनिक अपने बैरक छोड़ दिया था। उन सैनिकों का कोर्ट मार्शल किया गया। उनकी सेवाएं समाप्‍त कर दी गई थी।

 

बादल ने पत्र में कहा कि भारत सरकार श्री गुरूनानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व मना रही है। इस मौके पर सभी 309 सैनिकों को सभी आरोपों से बरी कर उन्हें पूर्व सैनिकों का दर्जा दिया जाना चाहिए। 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना