विरोध / एयरोसिटी एक्सटेंशन के लिए जमीन देने से किसानों का साफ इनकार



डेमो फोटो डेमो फोटो
X
डेमो फोटोडेमो फोटो

  • तहसीलदार की अगुवाई में सोशल सर्वे करने के लिए वीरवार को गांव बाकरपुर पहुंची
  • किसानों ने कहा जब तक प्लॉट नहीं दिए जाऐंगे तब तक जमीन नहीं देंगे

Dainik Bhaskar

Jun 28, 2019, 11:49 AM IST

मोहाली. चंडीगढ़ के आसपास इलाकों में किसानों की जमीन लेकर कई तरह के प्रोजेक्ट लगाए जा रहे है। किसानों से पहले भी सरकार की ओर से जमीनें लेकर उसका मुआवजा दिया गया है। अब पंजाब के मोहाली में गमाडा की ओर से किसानों से एयरोसिटी एक्सटेंशन के लिए जमीन मांगी जा रही है। इस पर किसानों का विरोध शुरू हो गया है। किसानों का कहना है कि सरकार की ओर से पहले उन्हें लैंड पूलिंग स्कीम के तहत जमीन ली थी लेकिन उसके बदले प्लॉट नहीं दिए गए है। जब तक उन्हें प्लॉट नहीं दिए जाते तब तक वे अपनी जमीनें नहीं देंगे।

 

गमाडा की ओर से एयरोसिटी एक्सटेंशन के लिए जो 726 एकड़ जमीन गांव बाकरपुर, नारायणगढ़ झुग्गियां, छत की एक्वायर की जानी है। इसको लेकर गमाडा के तहसीलदार की अगुवाई में सोशल सर्वे करने के लिए वीरवार को गांव बाकरपुर पहुंची। जहां पर किसान संघर्ष कमेटी ने इसका कड़ा विरोध किया और कहा कि पहले जो लैंड पुलिंग के तहत जमीन एक्वायर की गई है उनके प्लॉट दिए जाएं फिर आगे की जमीन एक्वायर करने दी जाएगी।

 

गमाडा की तहसीलदार सुखविंदर कौर की अगुवाई में टीम बाकरपुर पहुंची थी जहां पर किसानों से सोशल एंड इकनोमिक सर्वे के फॉर्म भरवाए जा रहे थे तो उसी समय किसान संघर्ष कमेटी के सदस्य मक्खन सिंह, तलविंदर सिंह, अजैब सिंह बाकरपुर, जतिंदर सिंह और भुपिंदर सिंह आदी वहां पहुंचे। उन्होंने तहसीलदार से कहा कि वे अपनी जमीन नए किसी प्रोजेक्ट के लिए नहीं देंगे।

 

उन्होंने कहा कि सरकार की ओर से गमाडा ने 2010-11 मे जो जमीन लैंड पुलिंग स्किम के तहत एक्वायर की थी उसके बदले में किसानों को अभी तक प्लॉट नहीं मिले हैं। ना तो रिहायशी प्लॉट मिले है और जो 121 स्क्वेयर गज के कर्मशियल साइट दी जानी थी, वो भी आज तक अलॉट नहीं हुई है। जिसके लिए किसान गमाडा के चक्कर काट रहे हैं। उन्होंने कहा कि जब तक गमाडा ने पिछले हिसाब नहीं करेगा। तब तक वह कोई भी जमीन एक्वायर नहीं करने देंगे।

 

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना