चंडीगढ़ / 'लिव इन' में रहने वाली लड़की को महिला वकील ने अपने घर ले जाने की बात कही, लेकिन बाद में मुकरी



पंजाब एंड हरियाणा हाई कोर्ट चंडीगढ़ (फाइल फोटो) पंजाब एंड हरियाणा हाई कोर्ट चंडीगढ़ (फाइल फोटो)
X
पंजाब एंड हरियाणा हाई कोर्ट चंडीगढ़ (फाइल फोटो)पंजाब एंड हरियाणा हाई कोर्ट चंडीगढ़ (फाइल फोटो)

  • हाईकोर्ट ने कहा-यह धोखा है, कार्रवाई की जाए

Dainik Bhaskar

Nov 09, 2019, 10:13 AM IST

चंडीगढ़. परिवार से जान के खतरे को देखते हुए लिव इन रिलेशनशिप में रहने वाला एक जोड़ा पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट पहुंचा। सुनवाई के दौरान कोर्ट ने पाया कि लड़के की उम्र 25 साल है, वहीं लड़की नाबालिग है, जिसकी उम्र 17 साल है।

 

लड़की के माता-पिता की तरफ से वकील ने कहा कि केस की सुनवाई अगले दिन के लिए रख दी जाए, जिससे पेरेंट्स कोर्ट में पेश हो सकें। लड़की के नाबालिग होने के चलते कोर्ट ने लड़की को नारी निकेतन भेजने की इच्छा जताई।

 

इस पर लड़का-लड़की की तरफ से पेश हुई महिला वकील ने कोर्ट में आश्वासन दिया कि वह लड़की को रात को अपने घर में रख लेगी और सुबह कोर्ट में पेश कर देगी। हाईकोर्ट ने इस पर सहमति जताते हुए लड़की को महिला वकील की कस्टडी में भेज दिया।

 

अगले दिन सुनवाई के दौरान लड़की ने कोर्ट में कहा कि वह महिला वकील के घर रात को नहीं रही। हाईकोर्ट ने इस मामले को फ्रॉड बताते हुए कहा कि महिला वकील ने कोर्ट के समक्ष खुद जिम्मेदारी ली, जिससे बाद में मुंह मोड़ लिया।

 

जस्टिस संजय कुमार ने लड़की को अगले दिन चंडीगढ़ नारी निकेतन भेजते हुए महिला वकील के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई के लिए वकीलों की लाइसेंसिंग व कंट्रोलिंग अथाॅरिटी बार काउंसिल ऑफ पंजाब-हरियाणा को यह मामला भेज दिया है। कोर्ट आॅर्डर की कॉपी बार काउंसिल के सेक्रेटरी को भी भेजे जाने के निर्देश दिए हैं।


कोर्ट के साथ फ्रॉड के लिए उकसाने वाला व्यवहार: जस्टिस संजय कुमार ने फैसले में कहा कि महिला वकील का कंडक्ट निंदनीय है। कोर्ट के सामने अपनी मुवक्किल को खुद की कस्टडी में घर पर रखने की बात कही लेकिन वे इस पर खरा नहीं उतरीं। यह कोर्ट के साथ फ्रॉड करने के लिए उकसाने वाला व्यवहार है, इसलिए बार काउंसिल इस मामले को देखे।


लड़की नाबालिग, इसलिए नारी निकेतन में रहे: कोर्ट में सुनवाई के दौरान लड़की ने माता-पिता के साथ जाने से इंकार कर दिया। इसके बाद कोर्ट ने कहा कि लड़की लड़के के साथ रहना चाहती है, जो उससे आठ साल बढ़ा है। दोनों के बीच कानूनन कोई रिश्ता नहीं है। लड़की नाबालिग है। ऐसे में लड़की को फिलहाल सेक्टर-26 स्थित नारी निकेतन में रखा जाए।

 

DBApp

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना