चंडीगढ़ / शुद्धि के लिए इस दीपावली घर में जलाएं गोमाता के गोबर से बने दीपक



X

  • इन इको फ्रेंडली दीयों को गौरीशंकर सेवा दल कर रहा है तैयार 
  • धनतेरस के दिन बांटे जाएंगे निशुल्क, गणेश और लक्ष्मी माता की मूर्तियां भी बनाई जा रहीं

Dainik Bhaskar

Oct 11, 2019, 07:34 PM IST

चंडीगढ़ (नीना शर्मा). सेक्टर-45 की गोशाला में गौरीशंकर सेवा दल द्वारा गोबर के इको फ्रेंडली दिए बनाए जा रहे हैं। शुद्धि के लिए इनमें जटा मासी, पीली सरसों, गूगल आदि को मिलाया गया है। संस्था के विनोद का कहना है कि यह दीये इको फ्रेंडली है और इसको कोई भी व्यक्ति अपने घर पर खुद भी तैयार कर सकता है।

 

एक मिनट में दो दिये तैयार हो जाते हैं। इस बार धनतेरस के दिन गौरीशंकर सेवा दल द्वारा निशुल्क दिए बांटे जाएंगे। ध्यान बस इतना रखना है कि इसके नीचे प्लेट रखकर ही जलाएं। विनोद ने बताया कि शास्त्रों के मुताबिक गौमाता के गोबर में लक्ष्मी जी का वास है। इसलिए हमारा लक्ष्य 25000 दिए बनाने का है ताकि लोग गाय के गोबर के महत्व को जानें।

 

उन्होंने बताया कि अगर कोई व्यक्ति इन दीयों को अपने पर बनाना चाहता है तो उसे न केवल दिया बनाना सिखाया जाएगा बल्कि वह गोशाला से निशुल्क गोबर भी ले जा सकता है। इतना नहीं इसके साथ-साथ गणेश और लक्ष्मी माता की मूर्ति भी इको फ्रेंडली बनाई जा रही है यह भी भक्तों को धनतेरस के दिन निशुल्क बांटी जाएंगी। उन्होंने बताया कि एक परिवार को पांच दीये दिए जाएंगे।

 

DBApp

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना