चंडीगढ़ / भाई की हत्या का बदला लेने के लिए 2 युवकों पर चलाई थीं गोलियां, पुलिस हत्यारों के करीब, जल्द हो सकती है गिरफ्तारी



To take revenge of brother's murder, 4 youth shot at two youth, police near killers, can arrest them soon.
X
To take revenge of brother's murder, 4 youth shot at two youth, police near killers, can arrest them soon.

  • बुधवार को सेक्टर-17 पुलिस स्टेशन के पास परेड ग्राउंड के सामने दोपहर 3:35 बजे हुआ था मर्डर
  • जींद के 26 साल के तेजिंदर सिंह का मर्डर और दोस्त संदीप हुआ था घायल, 4 लोग आए थे हमला करने

Dainik Bhaskar

Sep 05, 2019, 12:16 PM IST

चंडीगढ़. सेक्टर-17 पुलिस स्टेशन के पास परेड ग्राउंड के सामने बुधवार दोपहर 3:35 बजे गोलियां मारकर जींद निवासी 26 साल के तेजिंदर सिंह की हत्या कर दी गई थी। तेजिंदर के साथ उसका जानकार टैक्सी ड्राइवर संदीप खड़ा था। आरोपियों ने उसे भी गोली मारी, लेकिन संदीप बच गया। पीजीआई में उसका इलाज चल रहा है।

 

उधर, गुरुवार यानीकि अाज  सेक्टर-16 अस्पताल में मृतक तेजेन्द्र पाल सिंह का पोस्टमार्टम किया जा रहा है। पुलिस का कहना है कि पोस्टमार्टम होने के बाद तेजेन्द्र पाल सिंह की डेड बॉडी को उसके परिजनों को सौंप दिया जाएगा। इसके साथ ही पुलिस भी अपनी कार्रवाई को अंजाम देने में जुट जाएगी। सूत्रों के मुताबिक पुलिस आरोपियों के नजदीक पहुंच चुकी है और किसी भी वक्त उन्हें दबोच सकती है।

 

बता दें कि बुधवार को तेजिंदर और उसके दोस्त संदीप को गोली मारने वाले 4 लोग बेखौफ आए। वहां 26 साल का जींद निवासी तेजिंदर गिरा हुआ था, जबकि संदीप के भी गोली के छर्रे लगे हुए थे। पुलिस तुरंत दोनों को पीजीआई ले गई। यहां डाॅक्टरों ने तेजिंदर को मृत घोषित कर दिया। जबकि संदीप को भर्ती कर लिया। तेजिंदर के शरीर पर दो अलग अलग गन से कुल 5 गोलियां चलाई गई थीं। गोलियां चलाने के बाद उन्होंने ऑटो स्टैंड पर जाकर जबरन ऑटो लिया।

 

आॅटो में बैठी महिला को निकाला और ऑटो पर ही फरार हो गए। पुलिस को इस कत्ल के पीछे पुरानी गैंगवार लग रही है और उसी के चलते यह कत्ल हुआ। शक घायल संदीप पर भी है। पुलिस को शक है कि उसी के जरिए आरोपियों को तेजिंदर की लोकेशन का पता चला। क्योंकि तेजिंदर कहां है, उसकी जानकारी सिर्फ संदीप को ही थी। इसलिए पीजीआई में घायल संदीप पर पुलिस का पहरा है और अस्पताल से छुट्टी मिलने के बाद उससे पूछताछ होगी।


भाई के कत्ल का था शक, इसलिए चलाई तेजिंदर पर गोलियां:
पुलिस को शक है कि यह कत्ल गैंगवार के कारण हुआ। जींद के नरवाना शहर में अप्रैल महीने में मोहित मोर का कत्ल हुआ था। तेजिंदर उर्फ मल्ली को इस कत्ल का चार अन्य युवकों के साथ आरोपी बनाया गया था। मोहित का भाई विकास मोर उर्फ बॉक्स इस कत्ल का बदला लेना चाह रहा था। इसी के चलते कत्ल में तेजिंदर के साथ आरोपी बनाए गए मनीष और जसवंत की विकास मोर ने 14 अगस्त को हरियाणा में गोलियां मारकर हत्या कर दी थी। इसी के चलते पुलिस को शक है कि बुधवार को विकास मोर ही चंडीगढ़ आया और तेजिंदर की हत्या की।

 

DBApp

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना