चंडीगढ़ / डायरिया से ढाई साल और 10 साल की बच्ची की मौत, कुल 87 मरीज



Two girls died of Diarrhea
X
Two girls died of Diarrhea

  • पंचकूला-हिमाचल बॉर्डर एरिया के साथ सटे शाहपुर गांव में डायरिया का कहर
  • पीजीआई और हेल्थ डिपार्टमेंट की टीमें पहुंची मौके पर, लिए पानी के सैंपल
  • 750 घरों में चेकिंग की पीजीआई और हेल्थ डिपार्टमेंट की टीम ने 

Dainik Bhaskar

Sep 12, 2019, 06:35 AM IST

पंचकूला (संदीप कौशिक). पंचकूला-हिमाचल बॉर्डर एरिया के साथ सटे शाहपुर गांव में डायरिया फैलने से दो बच्चों की मौत हो गई है। इसमें एक ढाई साल की ललिता  है और दूसरी 10 साल की भावना। भावना का इलाज बद्दी के अस्पताल में चल रहा था और छुट्टी के बाद घर पहुंचने पर उसकी मौत हो गई। अब तक यहां पर दो दिन में 87 मरीज डायरिया की चपेट में आ चुके है। इनमें से 20 मरीजों को तबीयत ज्यादा खराब होने पर पंचकूला सेक्टर-6 के जनरल अस्पताल, कालका सीएचसी और बद्दी अस्पताल में रेफर किया गया है।

 
डायरिया के मंगलवार को 53 के करीब मरीज आने के बाद बुधवार सुबह ही पीजीआई चंडीगढ़, पंचकूला हेल्थ डिपार्टमेंट और हिमाचल प्रदेश की हेल्थ डिपार्टमेंट की टीमें मौके पर पहुंच गई। पानी की सप्लाई की चेकिंग के लिए एसई पब्लिक हेल्थ डिपार्टमेंट अशोक शर्मा भी टीम के साथ माैके पर पहुंचे। अब इस मामले में प्रशासन की ओर से उन लोगों पर भी जांच बिठाई जानी है, जिन्होंने इन लोगों को झुग्गियां बनाकर पानी की सप्लाई और बिजली कनेक्शन दिए हुए हैं। बुधवार को पानी के सैंपल भी भरवा लिए गए है। जांच की जा रही है कि प्राइवेट लोगों की ओर से पानी के कनेक्शन और बिजली की सप्लाई किस आधार पर दी गई। 

 

डे-नाइट स्पेशल मेडिकल पोस्ट बनाई, 24 घंटे एंबुलेंस सर्विस भी
हेल्थ डिपार्टमेंट ने डे-नाइट के लिए स्पेशल मेडिकल पोस्ट भी शाहपुर में बनवा दी है। इसके अलावा 24 घंटे सर्विस के लिए एक एंबुलेंस भी यहां दी है। कालका और जनरल अस्पताल सेक्टर-6 में डायरिया मरीजों के लिए अलग से वार्ड का बंदोबस्त किया गया है। साथ ही फिजिशियन और पेडिएट्रिक डॉक्टरों को भी इमरजेंसी के लिए बुला लिया गया है। 

 

ओपन में होता था शौच, मिक्सिंग के कारण हुआ ऐसा
शाहपुर में डायरिया के मरीज आने के बाद जब टीम चेकिंग के लिए पहुंची तो यहां पता लगा कि प्राइवेट बोर से पानी की पाइप लाइन से सप्लाई दी जा रही है। यहीं पर ओपन स्पेस में शौच होता था और यहां जो गंदे पानी की नालियां थी, उसी के साथ पीने के पानी की भी लाइनें डाली हुई थी। जांच में सामने आया कि पाइप लाइन में कई जगहों से लीकेज थी और उसमें मिक्सिंग होने पर ही डायरिया से बच्चे बीमार हो गए। अब यहां प्राइवेट बोर की सप्लाई को बंद करवा दिया गया है और पब्लिक हेल्थ डिपार्टमेंट वॉटर टैंकर सप्लाई करवा रहा है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना