क्राइम / पत्नी से संबंध के शक में मारा था अजय को, दूसरे ने देखा इसलिए उसे भी मारा, पुलिस ने दो दिन में पकड़ा कातिल



Two people were killed by the youth in Zirakpur
X
Two people were killed by the youth in Zirakpur

  • जीरकपुर में डबल मर्डर केस पुलिस ने 2 दिन में किया सॉल्व
  • अशोक और उसके भांजों ने दो लोगों की हत्या कर दी थी

Dainik Bhaskar

Jul 12, 2019, 10:12 AM IST

जीरकपुर. गांव छत में दो दिन पहले हुए डबल मर्डर केस में मोहाली पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी की पहचान समस्तीपुर, बिहार के रहने वाले अशोक कुमार के रूप में हुई है। हत्या में शामिल उसके तीन भांजे संतोष, सूरज व कृष्ण फरार हैं।

 

पुलिस आरोपियों को पकड़ने के लिए बिहार रवाना हो गई है। अशोक ने अपने भांजों के साथ मिलकर 32 साल के अजय का इसलिए मर्डर किया था, क्योंकि उसे शक था कि उसकी पत्नी और अजय के बीच में संबंध हैं। इसी कारण अशोक ने दो महीने पहले पत्नी को बिहार भेज दिया था। हत्या से दो दिन पहले अशोक का अजय से झगड़ा भी हुआ था। उसे जान से मारने की धमकी दी थी। पुलिस ने आरोपी को कोर्ट में पेश कर रिमांड पर लिया है।

 

डबल मर्डर के बाद जब पुलिस मौके पर पहुंचकर जांच कर रही थी, तब आरोपी अशोक घटनास्थल पर आम लोगों के बीच घूम रहा था। बाद में जांच के दौरान पुलिस को पता चला कि मर्डर से दो दिन पहले अशोक और अजय में झगड़ा हुआ था। पुलिस ने तलाश शुरू की तो उस समय तक अशोक व उसके सारे भांजे अपने फोन स्विच ऑफ कर अंडरग्राउंड हो चुके थे। इस पर पुलिस का शक पुख्ता हो गया।

 

जिस दिन अजय को मारा गया उसी दिन वहां 62 साल के फजलूदीन का भी मर्डर हुआ था। फजलूदीन गांव छत में ही आरएम सिंगला की मोटर पर चौकीदार था। वहीं अजय इसी गांव में राजिंदर सिंह के यहां नौकर था। यहां मोटर पर पशु रखे हुए थे और अजय उनकी देखभाल के लिए यहीं रहता था।

 

8 जुलाई की रात को अशोक अपने भांजे संतोष, कृष्ण और सूरज को साथ लेकर यहां पहुंचा। सबने मिलकर सो रहे अजय पर डंडों से हमला कर दिया। उसका चेहरा बिगाड़ने के लिए पास पड़ी ईंटों से कई वार किए। इस दौरान वहां मौजूद कुत्ते भौंके, जिनकी आवाज सुनकर पास की मोटर पर सो रहा फजलूदीन उठ गया। उसने देखा कि कुछ लोग घूम रहे हैं और वह अजय की मोटर की तरफ भागा। उसने सारे हत्यारों के चेहरे देख लिए और उन्हें भगाने के लिए ललकारा भी मारा। अशोक का भांजा कृष्ण फजलूदीन को पकड़ने के लिए भागा। फजलूदीन खेतों में अंधेरे में गिर गया। कृष्ण ने ईंटों से उसके सिर पर हमला कर उसका भी मर्डर कर दिया।

 

COMMENT