आत्महत्या / पत्नी और सास से तंग आकर लगाया फंदा, नोट में लिखा-लव यू मॉम एंड पापा 'आई क्विट'

X

  • मृतक ने पिता के नाम लिखा- पापा मेरे हत्यारों को माफ और उनपर दया न करना, मरते वक्त जितना मैं तड़पूंगा उन लोगों को तड़पाना
  • मृतक के पिता बोले- मुझे पुलिस से इंसाफ चाहिए, पुलिस आरोपी पत्नी और सास पर बनती कार्रवाई करे

Apr 10, 2019, 02:58 PM IST

मोहाली. बलौंगी में पीजी में रहने वाले 32 साल के अनिल कुमार नाम के युवक ने फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। यह कदम उसने अपने पत्नी और सास से तंग आकर की। अपनी शिकायत में उसने लिखा है कि उसके दोषियों को बख्शा न जाए और सख्त-से-सख्त सजा दी जाए।  पुलिस ने मामला दर्ज करके कार्रवाई शुरू कर दी है। 

 

मृतक अनिल ने अपनी पत्नी नीलम (मीना) और अपनी सास महेेंद्रो देवी को अपनी मौत का जिम्मेदार बताया है। खुदकुशी से पहले चार पन्नों में लिखे अपने सुसाइड नोट में सारी दास्तां लिखी है। पुलिस के पास यह सुसाइड नोट आ चुका है, हालांकि पहले पुलिस मुकर गई कि कोई सुसाइड नोट नहीं मिला।

 

पर जब पुलिस को बताया गया कि कॉपी दैनिक भास्कर के पास भी है, तो एसएचओ योगेश ने बताया कि वह नोट नहीं, बल्कि चार पन्नों की वह शिकायत है जो मृतक ने चंडीगढ़ पुलिस को दी थी। मृतक के पेरेंटस मंगलवार को ही उन्हें देकर गए हैं और उसको हैंडराइटिंग वेरिफाई कर रहे हैं। बता दें कि अनिल डड्डूमाजरा का रहने वाला था। लेकिन बलौंगी में कुछ समय से पीजी में रहता था और मानसिक रूप से परेशान था।

 

सुसाइड के अलावा कोई दूसरा रास्ता नहीं: फंदा लगाने से पहले लिखे सुसाइड नोट में अनिल ने लिखा है कि उसकी शादी 15 फरवरी, 2017 को नीलम से हुई थी। लेकिन शादी के बाद से ही मेरी पत्नी ओर सास महेंद्रो देवी ने मिलकर मुझे दिमागी रूप से अपंग बना दिया है। शादी के छह महीने के दौरान उसकी पत्नी मुश्किल से 15 से 20 दिन तक रही। बाकी का सारा समय उसने अपने मायके में बिताया। जब भी पत्नी प्रेग्नेंट होती तो उसकी मां उसको अपने घर ले जाती और बच्चा न होने की दवा खिला देती। मैं इतना परेशान हूं कि मेरे पास मरने के अलावा ओर कोई रास्ता नहीं है।

 

मां की बाजू में भी सास ने मारा: नोट में आगे लिखा कि 22 अगस्त, 2017 को पत्नी को मायके से अपने घर लेकर आया। लेकिन मेरी सास महेंद्रो देवी 28 अगस्त को हमारे घर आई और सब से झगड़ा और मारपीट की। मेरी मां की एक बाजू टूटी है, उसमें प्लेट्स डली हैं, उसके हाथ पर भी जोर से मारा। पूरी काॅलोनी में हमारे घर की बेइज्जती करवा दी। 

 

अगले जन्म में भी आपका बेटा बनूंगा: अपने मां बाप के लिए अनिल ने लिखा, मम्मी-पापा मैं आपके बिना नहीं रह सकता। आपको दुखी नहीं दे सकता। इसलिए यह काम करने जा रहा हूं। मुझे माफ कर देना। इस बार नहीं अगले जन्म में भी आपका ही बेटा बनकर आऊंगा और उतना ही प्यार करूंगा, जितना अब करता हूं। पापा मेरे हत्यारों को बिल्कुल माफ मत करना। जितना मरते वक्त मैं तड़पूंगा उतना ही आप उन लोगों को तड़पाना। उन पर कोई दया मत करना। आई एम सॉरी…माम-डै आई लव यू फोरएवर…आई क्विट.. ..लविंग सन अनिल कुमा

 

पहले एक और अब दूसरा बेटा खोया: मृतक अनिल के पिता मक्कड़ राम ने बताया कि शादी के बाद से ही अनिल पत्नी व सास से काफी परेशान था। इसी कारण अब कुछ समय से बलौंगी में पीजी में रहने लगा था। सोमवार सुबह करीब 10 बजे उन्होंने अनिल को फोन कर घर बुलाया। अनिल ने हंस कर बातें की और कहा कि कुछ देर बाद आता हूं। लेकिन शाम तक आया ही नहीं। शाम को उसके दोस्तों से पता चला कि उसने सुसाइड कर लिया है। बोले,पहले ही मैं एक बेटे को खो चुका हूं और अब दूसरे को भी खो दिया। मुझे पुलिस से इंसाफ चाहिए। पुलिस आरोपी पत्नी और सास पर बनती कार्रवाई करें।

 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना