आदेश / अफसराें पर कार्रवाई से पहले विजिलेंस को लेनी होगी मंजूरी



प्रतीकात्मक फोटो। प्रतीकात्मक फोटो।
X
प्रतीकात्मक फोटो।प्रतीकात्मक फोटो।

  • विजिलेंस सीधे नहीं ले पाएगा एक्शन

Dainik Bhaskar

Oct 10, 2019, 03:50 AM IST

चंडीगढ़. किसी भी अधिकारी-कर्मचारी के खिलाफ शिकायत मिलने पर तुरंत एक्शन लेने वाली विजिलेंस की शक्तियों में सरकार ने कटौती कर दी है। अब विजिलेंस को किसी के खिलाफ कोई शिकायत मिलेगी तो वह डायरेक्ट उसके खिलाफ जांच नहीं कर सकेगी। 
विजिलेंस को पहले संबंधित कर्मचारी के हैड ऑफ डिपार्टमेंट (एचओडी) से परमिशन लेनी पड़ेेगी। अधिकारी व कर्मचारी के खिलाफ कार्रवाई के लिए एचओडी ही अंतिम फैसला लेगा। 


अगर संबंधित कर्मचारी के एचओडी की परमिशन नहीं मिलती है तो विजिलेंस अपने स्तर पर तुरंत किसी प्रकार की जांच या कार्रवाई को अंजाम नहीं दे सकेगी। यही नहीं इससे पहले विभिन्न मामलों में शिकायत मिलने पर विजिलेंस को किसी भी विभागाध्यक्ष से किसी भी कर्मचारी पर कोई एक्शन लेने के लिए परमिशन नहीं लेनी पड़ती थी,अब लेना अनिवार्य है।

 

ट्रैप मामलों में नहीं होगा काेई बदलाव

आम लोगों द्वारा विभिन्न कामों के लिए रिश्वत मांगें जाने की शिकायत पर की जाने वाली विजिलेंस की कार्रवाई में कोई बदलाव नहीं होगा। वहीं किसी नेता, मंत्री या विधायक के खिलाफ शिकायत आती है तो जांच के लिए सीएम से अनुमति लेनी होगी।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना